भिखारी की मौत के बाद उसकी झोपड़ी से मिले 1.77 लाख के सिक्के और 8.77 लाख की एफडी

भिखारी ने चार बोरों में सिक्के भरकर रखे थे जिनको गिनने में पुलिस को 6 घंटे लग गए.

मुंबई में शुक्रवार को एक भिखारी की ट्रेन के नीचे आने से मौत हो गई. रेलवे पुलिस ने तफ्तीश की तो भिखारी की पहचान 82 वर्षीय बिरभीचंद आजाद के रूप में हुई. पुलिस को इस भिखारी की झोपड़ी से 1.77 लाख रुपए के सिक्के और 8.77 लाख रुपए की एफडी के कागजात मिले. इसके अलावा भिखारी का पैन कार्ड, आधार कार्ड और सीनियर सिटिजन कार्ड भी मौके से मिले.

भिखारी ने चार बोरों में सिक्के भरकर रखे थे जिनको गिनने में पुलिस को 6  घंटे लग गए. मुंबई मिरर की खबर के मुताबिक सीनियर इंस्पेक्टर नंद कुमार सासते ने बताया कि उसके आस पड़ोस की झुग्गियों में रहने वाले भिखारी ही बता रहे हैं. कागजों पर उसके घर का पता राजस्थान का है. मुंबई में वह अकेला ही रह रहा था.

आजाद नाम का ये भिखारी गोवंडी इलाके में कई साल से रह रहा था. हार्बर लाइन के स्टेशनों पर भीख मांगता था. उसके आस-पास रहने वाले और भिखारियों ने बताया कि उन्हें अंदाजा नहीं था कि आजाद के पास इतनी दौलत है.

बता दें कि भिखारी के साथ हादसा शुक्रवार को हुआ था. उसकी झोपड़ी में पुलिस की टीम पहुंचने के बाद उसका सारा लेखा जोखा रविवार तक हो पाया. इंस्पेक्टर सासते ने बताया ‘हमने शनिवार रात सिक्के गिनने शुरू किए और रविवार सुबह तक गिनते रहे. झोपड़ी में कागजात फैले हुए थे जिनमें 8.77 लाख रुपए की एफडी के कागजात भी थे. राजस्थान पुलिस को बिरभीचंद के बारे में सूचित कर दिया गया है.’

Related Posts