कल तक लिया अफीम और गांजा, अब ब्रिटिश पीएम बनने की दौड़ में ये नेता

ब्रिटेन में अगले प्रधानमंत्री की खोज जारी है. ब्रेक्ज़िट का मामला उफान पर है लेकिन अचानक ही पीएम पद के दावेदारों ने अपने ड्रग्स लेने के किस्से छेड़कर विमर्श ही मोड़ दिया.

ब्रेक्ज़िट के तूफान में ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे को 10, डाउनिंग स्ट्रीट छोड़ना पड़ रहा है. अब कई नेता पीएम पद की दौड़ में हैं. ना सिर्फ ब्रिटेनवासी और यूरोपियन बल्कि दुनिया की नज़र है कि वेस्टमिन्सटर में अब किसका सिक्का चलता है?

थेरेसा मे के खिलाफ अभियान चलाने के लिए नेता कमर कस चुके हैं. उनमें से करीब दस इस दौरान अपने ड्रग्स प्रभावित इतिहास पर बात करना चाहते हैं. गौरतलब है कि आठ ने मंज़ूर किया है कि वो ड्रग्स लेते थे. अब ब्रिटेश प्रेस और सोशल मीडिया में कयास लग रहे हैं कि इन नेताओं में से कौन किस तरह का नशा करता रहा होगा?

कुछ अखबारों ने सवाल भी उठाया है कि जब इन नेताओं को वैट जैसे करों पर अपनी नीतियों की बात करनी चाहिए तब वो अपने ड्रग्स प्रभावित इतिहास को कबूल करने में जुटे हैं.

मामला शुरू तब हुआ जब पीएम पद के सबसे मज़बूत दावेदारों में एक पर्यावरण मंत्री माइकल गोव ने स्वीकार किया था कि उन्होंने अपनी ज़िंदगी में कई मौकों पर कोकेन का इस्तेमाल किया था. उनके ‘कई मौकों’ पर कहा तो ब्रिटिश प्रेस ने इस बारे में ज़्यादा जानकारी इकट्ठा करनी शुरू कर दी.   टैबलॉइड्स ने तुरंत ही इस पर स्टोरी बनानी शुरू की और देखते ही देखते कई तरह की कहानियां तैरनी शुरू हो गईं.

british, कल तक लिया अफीम और गांजा, अब ब्रिटिश पीएम बनने की दौड़ में ये नेता
बोरिस जॉन्सन ने स्वीकारा कि वो कोकेन ले चुके हैं

जल्द ही पूर्व विदेश मंत्री बोरिस जॉन्सन की स्वीकारोक्ति भी सामने आ गई जिन्होंने कोकेन लेने का दावा किया. उन्होंने अपनी जवानी के दिनों में भांग लेने की बात भी मंज़ूर की. हालांकि उनकी कहानी में किंतु-परंतु बहुत थे. अब बारी अंतर्राष्ट्रीय विकास मंत्री रोरी स्टीवर्ट की थी जिनकी कहानी सबसे ज़्यादा दिलचस्प है. उन्होंने बताया कि ईरान में एक शादी के दौरान उन्होंने थोड़ी अफीम ली थी. वो जिस शादी में गए थे वहां अफीम भरा पाइप सभी को पिलाया जा रहा था, ऐसे में उन्होंने भी थोड़ा स्वाद चखा.

अब जब ब्रिटिश प्रधानमंत्री पद के दावेदार अपनी ड्रग्स से संबंधित कहानियां सुनाने में व्यस्त हैं तब प्रेस परेशान है कि वो ब्रेक्ज़िट के बारे में कब अपनी योजनाएं बताएंगे. इतना ज़रूर है कि नेताओं ने ज़ोरशोर से कहा है कि उनके पास ब्रिटेन को यूरोपियन यूनियन से बाहर निकाल लेने के लिए भरोसेमंद और साहसी योजनाएं हैं, ये अलग बात है कि किसी ने भी अब तक इस योजना को खुलकर बताया नहीं है. राजनीतिक विश्लेषक कह रहे हैं कि उम्मीदवारों की ड्रग्स वाली कहानियों ने पूरे मुद्दे को ही ढक दिया है.

british, कल तक लिया अफीम और गांजा, अब ब्रिटिश पीएम बनने की दौड़ में ये नेता
थेरेसा मे के प्रवक्ता ने कहा है कि उन्होंने कभी कोई नशा नहीं किया

नशे से जुड़ी अपनी कहानी बांचनेवालों में पूर्व ब्रेक्ज़िट मंत्री डोमिनिक राब, पूर्व पेंशन मंत्री एस्थर मैकवे और पूर्व विदेशमंत्री जेरेमी हंट शामिल हैं. हंट ने बताया कि जब वो एक घुमक्कड़ के तौर पर भारत घूमने निकले थे तब भांग भरी लस्सी पी थी. थेरेसा के कैबिनेट से इस्तीफा देनेवाली एंड्रिया लीडसम ने भी कॉलेज में गांजा लेने की बात मानी.

british, कल तक लिया अफीम और गांजा, अब ब्रिटिश पीएम बनने की दौड़ में ये नेता
जेरेमी हंट ने माना कि उन्होंने भारत यात्रा में भांग ली थी

एक कमाल की बात ये है कि वर्तमान ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे का दावा है कि उन्होंने ज़िंदगी में कभी भी ड्रग्स का सेवन नहीं किया. जब उनसे पूछा गया था कि अपनी ज़िंदगी में उन्होंने सबसे शैतानी भरा काम क्या किया है तो उनका जवाब था कि वो गेहूं के खेतों में दौड़ी थीं जिससे किसान कतई खुश नहीं था.