कांग्रेस को राज्यसभा चुनावों में गड़बड़ी का अंदेशा, शाह-स्मृति की सीटों के लिए रखी ये मांग

कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि आप तकनीकी कौशल का इस तरह इस्तेमाल नहीं कर सकते कि कुछ आंकड़े का पता 23 मई को चले और कुछ का 24 मई को.

नई दिल्ली: कांग्रेस ने गुजरात की दो राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव एक ही दिन कराए जाने की मांग की है. भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के लोकसभा के लिए चुने जाने के कारण ये सीटें खाली हुई हैं. इस साल लोकसभा चुनाव जीतने से पहले शाह और ईरानी गुजरात से राज्यसभा सदस्य थे.

कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य व प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने गुरुवार को नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में ये मांग उठाई. इस दौरान उन्होंने गुजरात के गांधीनगर और उत्तर प्रदेश के अमेठी के लोकसभा चुनाव परिणाम की घोषणा 23 व 24 मई को किए जाने का हवाला दिया.

‘तकनीक का न हो गलत इस्तेमाल’
उन्होंने कहा, “आप तकनीकी कौशल का इस तरह इस्तेमाल नहीं कर सकते कि कुछ आंकड़े का पता 23 मई को चले और कुछ का 24 मई को, इसलिए आंशका है कि आप इसे (राज्यसभा चुनाव) अलग-अलग कराएंगे.”

उन्होंने कहा कि पार्टी ने निर्वाचन आयोग से कहा है कि अगर दो सीटों के लिए चुनाव अलग-अलग तारीख को कराए गए तो वह असंवैधानिक और गैरकानूनी होगा. “यह विधायकों का जनादेश होता है.”

‘….ये आचार संहिता के होगा विपरीत’
सिंघवी ने कहा कि यह पूरी तरह आचार के विपरीत होगा. राज्यसभा की दो सीटों के लिए एक साथ चुनाव पहले हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, पंजाब और अन्य राज्यों में हो चुका है. जब कभी एक राज्य से दो सीटें खाली होती हैं तो चुनाव एक साथ ही होता है.

सिंघवी ने कहा, “मेरी आशंका अकारण नहीं है, यह साबित हो सकती है. इसलिए निर्वाचन आयोग दो पंक्तियों का बयान तुरंत आज या कल जारी करे कि दो सीटों के लिए अलग-अलग चुनाव कराने का इरादा नहीं है.”

ये भी पढ़ें-

दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा करने वाली BJP, फिर चलाएगी सदस्यता अभियान

क्राइस्टचर्च आतंकी हमले के आरोपी ब्रेंटन टैरंट ने अदालत में दी दोषी न होने की दलील

शहीद निराला की बहन के हाथ पीले कर, कुछ यूं किया गरुड़ कमांडोज ने शहादत का सम्मान