मोदी की शोहरत के चर्चे अब कांग्रेस की महफिल में, जयराम-सिंघवी के बाद थरूर ने की वाह वाह!

कांग्रेस में भी अब मोदी के नाम पर वाहवाही होने लगी है. तीन दिग्गज कह रहे हैं कि अगर मोदी अच्छा काम करते हैं तो उनकी तारीफ होनी चाहिए.

जयराम रमेश, अभिषेक मनु सिंघवी और शशि थरूर में इसके अलावा क्या समानता है कि ये तीनों कांग्रेस नेता हैं? असल में तीनों ने ही पीएम मोदी पर एक ही स्टैंड लिया है जो कांग्रेस की पुरानी रणनीति से एकदम अलग है.

modi, मोदी की शोहरत के चर्चे अब कांग्रेस की महफिल में, जयराम-सिंघवी के बाद थरूर ने की वाह वाह!

शशि थरूर कांग्रेस के तिरुअनंतपुरम से सांसद हैं, साथ ही उनकी तारीफ खुद पीएम मोदी भी कर चुके हैं. उन्होंने कहा है कि- मैं पिछले 6 साल से कह रहा हूं कि हमें पीएम मोदी के अच्छे कामों की तारीफ करनी चाहिए, इससे जब वो गलतियां करते हैं तब हमारी आलोचना की विश्वसनीयता बनी रहेगी. उनसे पहले पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश ने गुरुवार को कहा था कि- मोदी के काम को स्वीकार न करते हुए खलनायक की तरह पेश करने से कुछ हासिल नहीं होने वाला. उन्‍होंने कहा था कि हमें 2014 से 2019 के बीच किए गए मोदी के कार्यों के महत्व को समझना होगा क्योंकि इन्ही कार्यों के चलते वो एक बार फिर सत्ता में आए.

modi, मोदी की शोहरत के चर्चे अब कांग्रेस की महफिल में, जयराम-सिंघवी के बाद थरूर ने की वाह वाह!

जयराम रमेश ने कहा था- अगर आप हर समय उन्हें (मोदी) खलनायक की तरह पेश करेंगे तो आप कभी भी उनका मुकाबला नहीं कर सकेंगे.

उनके बाद कांग्रेस के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने लिखा- हमेशा कहा है कि मोदी को खलनायक प्रस्‍तुत करना गलत है. वे ना सिर्फ देश के पीएम हैं, बल्कि एकतरफा विपक्ष उनकी मदद करता है. काम हमेशा अच्‍छे, बुरे और तटस्‍थ होते हैं- उन्‍हें मुद्दों के आधार पर जज किया जाना चाहिए ना कि व्‍यक्ति के हिसाब से. निश्चित रूप ये अच्‍छे कामों में से उज्‍ज्‍वला स्‍कीम भी एक है.

अब शशि थरूर ने अपने दोनों कांग्रेसी साथियों का समर्थन किया है. उन्होंने कहा कि मैं अपने साथियों के बयान का स्वागत करता हूं, जिसकी पैरवी मैं बहुत पहले से कर रहा था.

 

इसे भी पढ़ें- जयराम रमेश के बाद सिंघवी के भी सुर बदले, कहा- एकतरफा विरोध से मोदी को फायदा