“BJP ने दोषियों के साथ मिलकर रची है साजिश, आदिवासियों की जमीन पर कब्जा करना है मकसद”

कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने कहा कि प्रियंका गांधी को दो दिन से हिरासत में ले रखा है और...

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए अड़ी हुई है. प्रियंका शुक्रवार को पीड़ितों से मिलने के लिए सोनभद्र रवाना हुई थीं लेकिन प्रशासन ने उन्हें मिर्जापुर में ही हिरासत में लिया था. हिरासत में लिए जाने के बाद उन्हें चुनार गेस्ट हाउस ले जाया गया. प्रियंका गेस्ट हाउस के बाहर शनिवार को दोबारा धरना पर बैठ गई हैं.

इस बीच सोनभद्र हत्याकांड को लेकर कांग्रेस के अलावा अन्य राजनीतिक पार्टियां भी सक्रिय हो गई हैं. अलग-अलग पार्टियों के नेता सोनभद्र घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं. नेताओं ने यूपी में पुलिस प्रशासन को लेकर गंभीर सवाल खड़े किए हैं. चलिए एक नजर डालते हैं कि सोनभद्र हत्याकांड को लेकर राजनीतिक दलों की कैसी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं.

राजनीतिक दलों की प्रतिक्रियाएं-

  • बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती ने सोनभद्र हत्याकांड को लेकर यूपी सरकार पर हमला बोला है. मायावती ने इस पर अब तक ये दो ट्वीट किए हैं-

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेष बघेल ने सोनभद्र जाकर उनका समर्थन करने का फैसला किया है. वो प्रियंका का समर्थन करने के लिए शनिवार को सोनभद्र पहुंच रहे हैं.

कांग्रेस नेता सुरजेवाला ने कहा कि प्रियंका गांधी को दो दिन से हिरासत में ले रखा है. भाजपा ने दोषियों के साथ मिलकर साजिश रची है. भाजपा आदिवासियों की जमीन पर कब्जा करना चाहती है.

केंद्रीय जनजातीय मामलों के मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि ‘यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. मिली जानकारी के मुताबिक राज्य सरकार कार्रवाई कर रही है. मुझे लगता है कि राज्य सरकार निष्पक्ष जांच करेगी और दोषियों को सजा मिलेगी.’

टीएमसी नेता डेरेक ओब्रायन ने कहा, “एडीएम और एसपी ने हमसे कहा कि हमें हिरासत में लिया जा रहा है. हमने उनसे कहा कि यहां धारा 144 नहीं लग रही क्योंकि हम 3 लोग केवल यहां हैं. हम घायलों से मिलने और फिर सोनभद्र जाने के लिए बीएचयू ट्रामा सेंटर जाने का इरादा रखते हैं.”

ये भी पढ़ें-

LIVE: प्रियंका गांधी से मिलकर सोनभद्र नरसंहार के पीड़ित परिजनों के छलके आंसू

Exclusive: “अराजकता फैली है, उन्हें महलों से निकलकर देखना चाहिए”, सोनभद्र नरसंहार पर बोलीं प्रियंका

प्रियंका गांधी की सक्रियता, राहुल का इस्तीफा और कांग्रेस का भविष्य?