DSP देवेंद्र सिंह विवाद: अधीर रंजन को वीके सिंह का जवाब, ‘सेना की वर्दी पहनी होती तो न करते ऐसी बात’

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने ट्वीट कर कहा, कुलगाम में हिजुबल आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुए पुलिस अधिकारी का नाम इत्तेफाक से देवेंदर सिंह है. अगर देवेंदर खान होता, तो विवाद बढ़ता.
Congress Leader Adhir Ranjan, DSP देवेंद्र सिंह विवाद: अधीर रंजन को वीके सिंह का जवाब, ‘सेना की वर्दी पहनी होती तो न करते ऐसी बात’

श्रीनगर: पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) देवेंदर सिंह को हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी नवीद बाबू के साथ संबंधों के चलते शनिवार को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में राजनीति गरमा गई है. कांग्रेस नेता अधीर रंजन ने इस मामले पर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है.

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर में आतंकियों के साथ गिरफ्तार किए गए डीएसपी देवेंदर सिंह की जगह कोई मुसलमान अफसर होता तो आरएसएस इस पर हंगामा काट देता. भारतीय जनता पार्टी ने चौधरी के इस बयान को सांप्रदायिक बताया है और कहा है कि वो पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं. बीजेपी ने उनके बयान को लेकर कांग्रेस से जवाब मांगा है.

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने ट्वीट कर कहा, कुलगाम में हिजुबल आतंकियों के साथ गिरफ्तार हुए पुलिस अधिकारी का नाम इत्तेफाक से देवेंदर सिंह है. अगर देवेंदर खान होता, तो विवाद बढ़ता. आरएसएस वाले इस मामले को जोर-शोर से उठात. हमारे देश के दुश्मनों के साथ रंग, धर्म, संप्रदाय से उठकर बर्ताव किया जाना चाहिए.

चौधरी ने इसी को लेकर दूसरे ट्वीट में कहा, घाटी में जो मामला सामने आया है, वो हमारे लिए बड़ी चिंता की बात है. ऐसी चीजों को बिल्कुल भी स्वीकार नहीं किया जा सकता. सवाल ये भी है कि पुलवामा जैसी आतंकी घटनाओं के पीछे असली दोषी कौन थे? इस पर भी नए सिरे से विचार करने की जरूरत है.

इस मामले पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि 2019 फरवरी के पुलवामा हमले की नए सिरे से जांच करने की अधीर रंजन चौधरी की मांग पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि, पुलवामा के असली अपराधी? क्या अधीर को शक हैं ? कौन अपराधी हैं? क्या वे भारतीय हैं, या कोई अन्य समुदाय के? मैं कह सकता हूं कि उन्हें कुछ समय के लिए आराम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि, अगर अधीर रंजन ने सेना की वर्दी पहनी होती है और कश्मीर में रहकर सेवाएं दी होती तो उन्होंने कई चीजें सीखी होतीं.

वीके सिंह ने कहा कि देवेंदर सिंह की आतंकवादियों के साथ कथित संलिप्तता की जांच की जाएगी. कई लोग इस पूछताछ में सामने आएंगे. देवेंदर सिंह से लगातार पूछताछ की जाएगी. कई अहम चीजें सामने आएंगी. हमें जम्मू कश्मीर पुलिस पर भरोसा करना चाहिए. उन्होंने जो कुछ भी किया है, चाहे वह किसी भी समुदाय से हो.

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने मंगलवार को मीडिया के कुछ वर्गो में चल रही खबर का खंडन करते हुए कहा कि पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) देवेंदर सिंह को गृह मंत्रालय ने कभी किसी पदक से सम्मानित नहीं किया था. हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी नवीद बाबू के साथ संबंधों के चलते शनिवार को डीएसपी देवेंदर सिंह को गिरफ्तार किया गया है.

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने ट्वीट में कहा, “यह स्पष्ट करना है कि जैसा कि कुछ मीडिया आउटलेट्स में दिखाया जा रहा है, डीएसपी देवेंदर सिंह को एमएचए (गृह मंत्रालय) द्वारा किसी गैलेंट्री या मेधावी पदक से सम्मानित नहीं किया गया है.” ट्वीट में कहा गया, “पूर्व में जम्मू-कश्मीर राज्य द्वारा 2018 में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उनकी सेवा के दौरान केवल वीरता पदक से उन्हें सम्मानित किया गया था.”

Related Posts