नागरिकता कानून लागू करने से इनकार नहीं कर सकता कोई राज्य: कपिल सिब्बल

कपिल सिब्बल ने कहा कि आप इसका विरोध कर सकते हो, आप विधानसभा में एक प्रस्ताव पारित कर सकते हैं और केंद्र सरकार से इसे वापस लेने के लिए कह सकते हैं.

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ने शनिवार को कहा कि नागरिकता संसोधन कानून अब संसद से पास हो चुका है, ऐसे में राज्यों के पास इसे लागू न करने का कोई अधिकार नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि कानून को अस्वीकार करना “असंवैधानिक” होगा.

सिब्बल ने कहा, “नागरिकता कानून पास हो जाने के बाद कोई राज्य यह नहीं कह सकता है कि ‘वह इसे लागू नहीं करेगा.’ यह संभव नहीं है और असंवैधानिक है. आप इसका विरोध कर सकते हो, आप विधानसभा में एक प्रस्ताव पारित कर सकते हैं और केंद्र सरकार से इसे वापस लेने के लिए कह सकते हैं. कपिल सिब्बल ने केरल लिट्रेचर फेस्टिवल में यह बात कही.

उन्होंने कहा, “संवैधानिक रूप से यह कहना कि मैं इसे लागू नहीं करूंगा, काफी समस्या पैदा कर सकता है और कठिनाइयां खड़ी कर सकता है.” मालूम हो कि देशभर में नागरिकता कानून का जमकर विरोध हो रहा है. कांग्रेस पार्टी भी इन कानून का विरोध कर रही है. केरल और पश्चिम बंगाल की सरकारों ने इस कानून के विरोध में कहा है कि वह इसे अपने राज्य में पारित नहीं करेंगे. ऐसे में सिब्बल का ये बयान काफी अहमियत रखता है.

ये भी पढ़ें: 6 हफ्ते में शुरू हो भर्ती प्रक्रिया, 69,000 शिक्षामित्रों पर SC का UP सरकार को आदेश