नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे को लोग क्यों कह रहे ‘दवाई की पर्ची’

नवजोत सिंह सिंद्धू ने चिट्ठी को ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा है कि उन्होंने 10 जून को राहुल गांधी के लिए चिट्ठी लिखी थी. उनके ‘छोटे से इस्तीफे’ से लेकर उनकी राइटिंग तक का सोशल मीडिया पर मजाक उड़ाया जा रहा है.

नई दिल्ली: पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से जारी टकराव के बीच नवजोत सिंह सिंद्धू ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. सिद्धू ने रविवार को पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इस्तीफा पत्र भेजा है. उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर भी इस ख़त को साझा किया है.

हालांकि यहां चिट्ठी शेयर करते हुए उन्होंने लिखा है कि उन्होंने 10 जून को राहुल गांधी को चिट्ठी लिखी थी. इस्तीफे के बाद से ही सिद्धू ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं. उनके ‘छोटे से इस्तीफे’ से लेकर उनकी राइटिंग तक का सोशल मीडिया पर मजाक उड़ाया जा रहा है.

एक ट्विटर यूजर भारतीय सोक्रेटस ने लिखा, ‘क्या यह इस्तीफा पत्र है या एक स्थानीय डॉक्टर का दवाई पर्चा?’

अब्दुल कादिर ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘लिखने में थोड़ी और मेहनत की जरूरत थी, बाकी सब ठीक है’

नवजोत सिंह सिद्धू, नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे को लोग क्यों कह रहे ‘दवाई की पर्ची’

ट्विटर यूजर वेदांत ने लिखा, ‘ये किसी कैबिनेट मंत्री का भेजा हुआ सबसे छोटा इस्तीफा है, और भेजा भी किसे? पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को. मंत्रिमंडल से इस्तीफा मुख्यमंत्री को भेजा जाता है शायद’

ट्वीट करते हुए अनूप नाम के यूजर ने लिखा, इस्तीफा अधूरा है. अंत में पता लिखना भूल गए. ठोको ताली. यह पत्र एक मजाक भी है.

ट्विटर यूजर शालिनी शर्मा ने लिखा, ‘ये किसी स्कूल के बच्चे की छुट्टियों की एप्लीकेशन लग रही है. मेरे ख्याल से ये इतिहास का सबसे छोटा इस्तीफा है. शायद कोई वर्ल्ड रिकॉर्ड हो.’