Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप
Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप

Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप

कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने कहा, "प्रधानमंत्री जी, क्या आप जानते हैं कि इस देश में डॉक्टर्स, नर्सेस और हेल्थ प्रोफेशनल्स को आज 7 लाख 25 हजार ओवरऑल हैजमेट सूट्स चाहिए."
Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप

कांग्रेस (Congress) नेता रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) ने मंगलवार को देश में बढ़ते कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा. सुरजेवाला ने कहा, “प्रधानमंत्री जी, 22 मार्च 2020 की शाम को 5 बजे हम सबने इस देश के सभी डॉक्टर्स, नर्सेस और हेल्थ प्रोफेशनल्स के लिए ताली और थाली बजाई, लेकिन डॉक्टर्स, नर्सेस और हेल्थ प्रोफेशनल्स कह रहे हैं कि उन्हें ताली और थाली नहीं, अब रखवालों की रखवाली चाहिए, क्योंकि न मास्क उपलब्ध हैं, न हैजमैट सूट्स उपलब्ध हैं और न ही पर्सनल प्रोटेक्श्न इक्विपमेंट हैं.”

‘डॉक्टर्स सरकार से कर रहे सवाल’

कांग्रेस नेता ने कहा, “इस देश की एक सरकारी डॉक्टर, डॉ. कामना कक्कड़ ने (डॉक्टर का ट्वीट दिखाते हुए) प्रधानमंत्री जी, आपको लिखकर ये कहा है कि जब वो उपलब्ध हों तो श्मशान घाट में या उनकी कब्र पर ये पहुंचा दिए जाएं. देश के डॉक्टर्स, आज आपको ये कह रहे हैं, पर ऐसा क्यों हुआ?”

उन्होंने आगे कहा कि ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट के मापदंड, उसे बनाने के मापदंड, स्वास्थ्य मंत्रालय और कपड़ा मंत्रालय ने 3 मार्च 2020 तक फिक्स ही नहीं किए. 1 फरवरी से लेकर 3 मार्च 2020 तक, 31 दिन नष्ट कर दिए.

सुरजेवाला ने कहा, “क्या ये अपने आप में अपराध नहीं और क्या स्मृति ईरानी जी, जो कपड़ा मंत्रालय की प्रमुख हैं, उनकी जिम्मेदारी फिक्स होगी?

दूसरा, 19 मार्च 2020 यानी 5 दिन पहले तक आपका कॉमर्स मंत्रालय, जो पीयूष गोयल जी का है, वो वेंटिलेटर, मास्क और इन सारे ओवर ऑल का, जो हिंदुस्तान में उपलब्ध थे, यहां से विदेशों में 10 गुना कीमत पर निर्यात करवाते रहे.”

कांग्रेस नेता ने आगे कहा, “प्रधानमंत्री जी, क्या आप जानते हैं कि इस देश में डॉक्टर्स, नर्सेस और हेल्थ प्रोफेशनल्स को आज 7 लाख 25 हजार ओवरऑल हैजमेट सूट्स चाहिए. 60 लाख एन-95 मास्क चाहिए. 1 करोड़ तीन प्लाई मास्क चाहिए. ये मैं नहीं कह रहा, 18 मार्च 2020 की भारत के स्वास्थ्य मंत्रालय की मीटिंग कह रही है.”

‘जरूरी सामानों का निर्यात क्यों कराया?’

सुरजेवाला ने कहा कि क्या ये दोनों चीजें अपराध नहीं हैं. पहला, मापदंड 31 दिन निर्धारित नहीं करना, और दूसरा, इन सबका निर्यात करवा देना? आज रात 8 बजे जब आप राष्ट्र को संबोधन देंगे, तो क्या आप स्मृति ईरानी जी और पीयूष गोयल जी को बर्खास्त करेंगे? क्या इस अपराध की सजा उन सब दोषियों को मिलेगी? देश जवाब मांगता है.

उन्होंने कहा, “प्रिय पीएम, करोना वायरस की लड़ाई में सबसे जरूरी COVID-19 का टेस्ट है. इसे कमजोर करना राष्ट्र विरोधी है. 20 मार्च को CDSCO/NIV ने 14 कंपनियों को करोना किट के टेस्ट लाइसेन्स दिए. लेकिन 21 मार्च को सरकार ने केवल FDA/EC अप्रूव्ड किट की शर्त लगा दी. अब केवल गुजरात की कम्पनी रह गई है.”

सुरजेवाला ने कहा कि आदरणीय पीएम,आज राष्ट्र संबोधन इन सवालों का जवाब दें. पहला, 14 कंपनियों को करोना वाइरस टेस्टिंग किट बनाने का टेस्ट लाइसेन्स देकर केवल गुजरात की एक कम्पनी को इजाजत क्यों? दूसरा, टेस्ट की लागत 4,500 रुपये क्यों? तीसरा, FDA/EC मोहर अनिवार्य क्यों है? चौथा, ये टेस्ट आयुष्मान भारत में शामिल क्यों नहीं है?

Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप
Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप

Related Posts

Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप
Randeep Surjewala Statement, Corona: ‘मास्क-वेंटिलेटर जैसी जरूरी चीजें 10 गुना दाम पर निर्यात करती रही सरकार’, सुरजेवाला का आरोप