अदालत ने कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को चार दिन की ED हिरासत में भेजा

ईडी ने कर्नाटक कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार की नौ दिन की रिमांड पूरी होने पर दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. ईडी ने कहा कि शिवकुमार ने हिरासत के दौरान सहयोग नहीं किया इसलिए शिवकुमार की पांच दिन की कस्टडी और चाहिए.

नई दिल्ली: दिल्ली की रॉउज एवेन्यू कोर्ट ने डीके शिव कुमार की चार दिन की ईडी हिरासत बढ़ा दी गई है. अदालत ने हिरासत 17 सितंबर तक बढ़ाई गई है. कोर्ट ने ईडी से कहा कि सबसे पहले डीके शिवकुमार को डॉक्टर के पास ले जाया जाए और फिर पूछताछ की जाए. साथ ही कोर्ट ने डीके शिव कुमार की जमानत याचिका पर ED को सोमवार तक रिप्लाई फाइल करने के लिए कहा.

ईडी ने कर्नाटक कांग्रेस के नेता डीके शिवकुमार की नौ दिन की रिमांड पूरी होने पर दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया. ईडी ने कहा कि शिवकुमार ने हिरासत के दौरान सहयोग नहीं किया इसलिए शिवकुमार की पांच दिन की कस्टडी और चाहिए.

कोर्ट में क्या-क्या हुआ ?
ASG के केएम नटराजन ने कहा कि रिमांड के दौरान शिवकुमार ने ईडी के सवालों का ठीक से जवाब नहीं दिया और ना बताया कि जो पैसा जमा किया है और बेनामी संपत्ति है उसका स्त्रोत क्या है? ईडी के मुताबिक पैसा 317 बैंक खातों के जरिये ट्रांसफर किया गया.

इनके परिवार के लोगों की बैंक खातों की भी ईडी पड़ताल कर रही है. अभी तक के जांच के आधार पर 200 करोड़ से अधिक का अघोषित पैसा और 800 करोड़ की बेनामी संपत्ति की जानकारी मिली है. ईडी ने भारी मात्रा में दस्तावेज और सबूतों को बरामद किया है जिसकी आरोपी से पहचान करवानी है. आरोपी के पास कुछ ऐसी जानकारी है जो सिर्फ उसी को पता है.

शिवकुमार के वकली सिंघवी- शिवकुमार 3 सितंबर से ईडी की हिरासत में हैं आज दसवां दिन है, इससे पहले भी उनसे पूछताछ हो रही थी. शिवकुमार को तुरंत मेडिकल सहायता दी जानी चाहिए. ईडी 15 दिन तक के लिए कस्टडी में रख सकती है इसलिए मांग रही, लेकिन इसका मतलब ये नहीं है कि हिरासत में दे देना ही चाहिए. सिंघवी ने कोर्ट में शिवकुमार को मैडिकल सहायता देने के लिए राजन पिल्ल‌ई के केस का जिक्र किया.

सिंघवी ने आगे कहा कि शिवकुमार कहीं भागे नहीं जा रहे, उनकी 22 साल की बेटी से भी ईडी ने पूछताछ की, उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है. ईडी जब चाहे, तब पूछताछ करना चाहे मुझे बुला ले. ईडी अभी तक 100 घंटों से ज्यादा पूछताछ कर चुकी है. अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट से कहा कि डीके शिवकुमार को हाई ब्लड प्रेशर है, उन्हें मेडिकल प्रोटेक्शन मिलना चाहिए. ईडी की हिरासत की जगह अस्पताल में भर्ती करवाया जाना चाहिए.

सिंघवी- ईडी शिवकुमार को समन करके बुला सकती है वो इसकी अवहेलना नहीं करेंगे, वो कानून का पालन करने वाले सभ्य नागरिक है. कोर्ट ने कहा कि आपको जरूरत के हिसाब से बेहतर मेडिकल सुविधा दी जाएगी.