‘कुंभ मेले’ पर उदित राज के बयान से खड़ा हुआ विवाद, संबित पात्रा ने कांग्रेस पर साधा निशाना

पूर्व सांसद उदित राज ने ट्वीट कर कहा, 'सरकार द्वारा किसी भी तरह की धार्मिक शिक्षा या अनुष्ठान के लिए पैसा नहीं दिया जाना चाहिए. सरकार का अपना कोई धर्म नहीं होता है...'

udit raj-sambit patra

कांग्रेस नेता उदित राज ने गुरुवार को उस वक्त एक विवाद को जन्म दे दिया जब उन्होंने कहा कि कुंभ मेले के आयोजन पर यूपी सरकार की ओर से पैसा खर्च किया जाना गलत है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उनकी इस टिप्पणी से कांग्रेस का कोई लेनादेना नहीं है, क्योंकि यह उनकी निजी राय है और वह अपनी इस टिप्पणी पर बहस के लिए तैयार है.

इसको लेकर बीजेपी ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि यही गांधी परिवार की सच्चाई है. उधर, कांग्रेस सूत्रों का कहना है कि उदित राज का बयान उनकी निजी राय है और पार्टी उससे सहमत नहीं है. पूर्व सांसद उदित राज ने ट्वीट किया, ‘‘सरकार द्वारा किसी भी तरह की धार्मिक शिक्षा या अनुष्ठान के लिए पैसा नहीं दिया जाना चाहिए. सरकार का अपना कोई धर्म नहीं होता है. यूपी सरकार इलाहाबाद में कुंभ मेले के आयोजन पर 4200 करोड़ रुपये खर्च करती है, वह भी गलत है.

विवाद बढ़ने के बाद उदित राज ने कुछ देर में अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया था, हालांकि कुछ देर बाद उन्होंने इसे फिर बहाल कर दिया. उन्होंने कहा, ‘‘मैं ट्वीट को बहाल कर रहा हूं और संवाद के लिए तैयार हूं. जब भी राजनीतिक मामला होता है तो कांग्रेस को टैग करता हूं. इसमें नही किया था, क्योंकि व्यक्तिगत विचार है. बिना वजह पार्टी को घसीटा जा रहा है. डॉक्टर अम्बेडकर मानते थे कि राजनीति और धर्म का मिश्रण नही होना चाहिए.’’

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने इसको लेकर ट्वीट किया, ‘‘मित्रों ये है गांधी परिवार की सच्चाई. पहले हलफनामा देकर उच्चतम न्यायालय में कहा था कि ‘भगवान श्री राम मात्र काल्पनिक है ..उनका कोई अस्तित्व नहीं और अब प्रियंका वाड्रा जी का कहना है की कुंभ मेला भी बंद होना चाहिए!! तभी तो दुनिया कहती है राहुल और प्रियंका “सुविधा-वादी” हिंदू है !!’’

Related Posts