प्रियंका गांधी के घर घुसने वाली निकली कांग्रेस कार्यकर्ता, कहा- किसी ने भी मुझे नहीं रोका

प्रियंका गांधी के 35 लोधी स्टेट स्थित आवास में बिना इजाजत घुसने वाली महिला का नाम शारदा त्यागी है. शारदा त्यागी कांग्रेस पार्टी की ही कार्यकर्ता हैं. एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता शारदा त्यागी ने दावा किया है कि वो बीते 25 नवंबर को अपने परिवार के साथ कार में सवार होकर प्रियंका गांधी के घर के अंदर गई थीं.

नई दिल्ली: पहले सड़क फिर संसद तक प्रियंका गांधी की सुरक्षा मामला गर्माया हुआ है. कुछ दिनों पहले लोधी रोड स्थित उनके आवास पर एक कार पहुंच गई थी. जिस वक्त ये कार उनके पोर्च तक पहुंची, उस वक्त प्रियंका गांधी पार्टी पदाधिकारियों के साथ मीटिंग कर रहीं थी. अब इस बात का खुलासा हुआ है कि आखिरकार उस वक्त कार में कौन शख्स उनके पोर्च तक पहुंचा था.

प्रियंका गांधी के 35 लोधी स्टेट स्थित आवास में बिना इजाजत घुसने वाली महिला का नाम शारदा त्यागी है. शारदा त्यागी कांग्रेस पार्टी की ही कार्यकर्ता हैं. एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए कांग्रेस कार्यकर्ता शारदा त्यागी ने दावा किया है कि वो बीते 25 नवंबर को अपने परिवार के साथ कार में सवार होकर प्रियंका गांधी के घर के अंदर गई थीं.

शारदा त्यागी ने कहा कि वो खुद भी इस बात से अचंभित थीं कि घर के अंदर दाखिल होने पर उनसे किसी ने भी कोई पूछताछ नहीं की और ना ही उनकी गाड़ी कि कोई जांच की गई. शारदा त्यागी के मुताबिक प्रियंका गांधी के घर के बाहर तैनात सुरक्षा गार्ड्स ने उन्हें बड़ी आराम से अंदर जाने दिया.

उन्होंने आगे कहा कि अगले दिन मैं दिल्ली चली गई और सोचा कि जब आए हैं तो टाइम लेते चलते हैं दफ्तर से। बस वहां जाकर देखा तो वहां सुरक्षा नाम की कोई चीज ही नहीं है. महिला ने बताया कि उनकी गाड़ी में उनकी बेटी, पोता और घर के ही कुछ अन्य बच्चे थे.

उन्होंने कहा कि मेरी तबियत खराब रहती है इसलिए मैं इनलोगों को अपने साथ ले गई थी.’महिला ने कहा कि ‘मैं कभी इससे पहले प्रियंका गांधी के घर नहीं गई थी…लेकिन घर के बाहर किसी तरह की सुरक्षा जांच नहीं हुई जो कि बहुत गलत बात है. शायद प्रियंका जी को भी इतना बुरा नहीं लगा हो जितना मुझे इस बात को लेकर लग रहा है.’

कांग्रेस महासचिव की सुरक्षा में चूक के अलावा देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक का भी मामला सामने आया है. मंगलवार को एक शख्स संसद के पास रक्षामंत्री के काफिले के सामने अचानक आ धमका. यह शख्स दावा कर रहा था कि उसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना था इसीलिए वो यहां आया था. बाद में पुलिस ने इस शख्स को हिरासत में ले लिया.