कांग्रेस में नहीं थम रहा इस्तीफों का दौर, प्रताप सिंह बाजवा ने भी छोड़ा पद

शनिवार को उत्तर प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष रंजीत सिंह जूदेव, महासचिव आराधना मिश्रा मोना, उपाध्यक्ष आरपी त्रिपाठी और 10 अन्य नेताओं ने लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार के लिए नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

नई दिल्ली: ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के विदेश विभाग के उपाध्यक्ष प्रताप सिंह बाजवा ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफ देते हुए उन्होंने पत्र लिखा, जिसमें उन्होंने कहा, “राहुल गांधी ने इस्तीफा देते हुए अन्य नेताओं के लिए जवाबदेही का एक उदाहरण स्थापित किया है.

इसी के साथ बाजवा ने पत्र में निवेदन करते हुए लिखा कि कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्यों सहित कई वरिष्ठ पदाधिकारी, राज्य प्रमुखों और सभी मुख्यमंत्रियों को इसी नियम का पालन करना चाहिए और इस्तीफा देना चाहिए.

हालांकि बाजवा ने कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी से पद पर बने रहने की भी अपील की है. उन्होंने लिखा “राहुल जी से निवेदन करता हूं कि वे एक बार फिर से कार्यभार संभालें और एक ऐसा संगठन बनाएं जो सभी सामंती और अंतर वैयक्तिक प्रतिद्वंद्वियों से मुक्त हो.”

मालूम हो कि शनिवार को कांग्रेस पार्टी के अन्य नेताओं ने भी इस्तीफा दिया है. उत्तर प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष रंजीत सिंह जूदेव, महासचिव आराधना मिश्रा मोना, उपाध्यक्ष आरपी त्रिपाठी और 10 अन्य नेताओं ने लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार के लिए नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

ये भी पढ़ें: आजम खान की लोकसभा सदस्यता खत्म करने की याचिका हाई कोर्ट में स्वीकार