Delhi Violence: इस जवान को सलाम, लोगों को बचाने के लिए हाथों में उठा लिया जलता सिलेंडर

इस घटना का एक वीडियो सामने आया है जो कि 24 फरवरी को करावलनगर के शेरपुर इलाके में रिकॉर्ड किया गया है, जिसमें दिल्ली पुलिस के कॉन्स्टेबल वसीम की बहादुरी साफ देखी जा सकती है.
Constable Wasim showed bravery in Delhi violence, Delhi Violence: इस जवान को सलाम, लोगों को बचाने के लिए हाथों में उठा लिया जलता सिलेंडर

पिछले सप्ताह दिल्ली सांप्रदायिक हिंसा की आग में जल रही थी. एक तरफ वो लोग थे जो हाथों में लाठी, डंडा और रॉड लिए एक-दूसरे की जान के दुश्मन बने सड़कों पर घूम रहे थे. पत्थरबाजी कर रहे थे. घरों, दुकानों, गाड़ियों और इबादतगाहों को आग के हवाले कर रहे थे. वहीं दूसरी तरफ वो लोग थे जो इस भयावह स्थिति में भी अपनी जान की परवाह न करते हुए इंसानियत का झंडा बुलंद किए हुए थे. ऐसी ही मिसाल पेश की दिल्ली पुलिस के कॉन्स्टेबल वसीम ने.

दरअसल नफरत में लिपटी हिंसा की आग ने कई लोगों के घर बर्बाद कर दिए थे, दिल्ली पुलिस ऐसे हिंसाग्रस्त इलाकों में बचाव कार्य कर रही थी. शेरपुर में भी पुलिस अपना कर्त्वय निभा रही थी. तभी कॉन्स्टेबल वसीम और इंस्पेक्टर अनिल की नजर गली में जलते हुए गैस सिलेंडर पर पड़ी. जलते हुए सिलेंडर को देख वसीम दौड़कर उसके पास गए और उठाकर उसे गली से दूर ले गए. इसके बाद वसीम ने कपड़ा डालकर सिलेंडर में लगी आग पर काबू पाया और फिर उसे नाली में डाल दिया.

Constable Wasim showed bravery in Delhi violence, Delhi Violence: इस जवान को सलाम, लोगों को बचाने के लिए हाथों में उठा लिया जलता सिलेंडर

जहां एक तरफ लोग भीड़ बनकर एक दूसरे की जान के दुश्मन बने हुए थे, वहीं दिल्ली पुलिस के रूप में फरिश्ता बनकर आए वसीम ने अपनी जान की परवाह न करते हुए कई लोगों की जान बचाने का काम किया. ये घटना दिल्ली हिंसा के दौरान हिंसाग्रस्त इलाके करावलनगर के शेरपुर की है. वसीम की इस बहादुरी का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें 24 फरवरी को दंगों के दौरान दिखाई उनकी इस बहादुरी को देखा जा सकता है.

ये भी पढ़ें: रूस और पोलैंड को पछाड़ भारत ने यूरोप में साइन की 40 मिलियन डॉलर की डिफेंस डील

Related Posts