AIIMS में कोरोना संक्रमित शवों की हुई अदला-बदली, लापरवाही के लिए जांच टीम गठित

कोरोना से संक्रमित किसी व्यक्ति की मौत के बाद उसके शव को सैनेटाइज कर पूरी तरह से पैक करने के बाद परिजनों को दिया जाता है. लेकिन परिजनों को इस बात की हरगिज भी इजाजत नहीं होती है कि वो शव को देखें.
corona infected corpses exchanged, AIIMS में कोरोना संक्रमित शवों की हुई अदला-बदली, लापरवाही के लिए जांच टीम गठित

कोरोनावायरस का कहर दुनियाभर में फैला हुआ है. इसके प्रकोप के चलते ऐसा अमानवीय दौर आ गया है कि इससे संक्रमित व्यक्ति के अंतिम संस्कार से पहले उसके परिजन उसका दीदार तक नहीं कर सकते हैं. इन्हीं कारणों से कई ऐसे मामले सामने आ रहे हैं, जहां कई लोग अपना परिजन समझ किसी और का ही अंतिम संस्कार कर रहे हैं. ऐसा ही एक मामला मंगलवार को दिल्ली स्थित AIIMS में सामने आया.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

AIIMS में कोरोना से संक्रमित दो शवों की अदला-बदली हो गई. ये दोनों शव दो अलग-अलग समुदाय के व्यक्तियों के थे. जैसे ही परिजनों को इस बात का पता चला वैसे ही अस्पताल के बाहर हंगामा खड़ा हो गया. पुलिस के मुताबिक एक परिवार ने अस्पताल से शव मिलने के बाद उसका अंतिम संस्कार कर दिया और वहीं दूसरे परिवार को सही शव न मिलने तक इंतजार करने के लिए कहा गया. आखिरकार दोनों शवों का मंगलवार को अंतिम संस्कार किया गया.

इस घटना के बाद AIIMS के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “बदकिस्मती से ये ट्रॉमा सेंटर में हुआ. मुर्दाघर के दो कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा चुकी है. साथ ही मामले में एक जांच गठित कर दी गई है.” मालूम हो कि कोरोना से संक्रमित किसी व्यक्ति की मौत के बाद उसके शव को सैनेटाइज कर पूरी तरह से पैक करने के बाद परिजनों को दिया जाता है. लेकिन परिजनों को इस बात की हरगिज भी इजाजत नहीं होती है कि वो शव को देखें.

Related Posts