कोरोना पॉजिटिव पीएल पुनिया ने किया महामारी एक्‍ट का उल्‍लंघन, हम कोर्ट जाएंगे: छत्‍तीसगढ़ बीजेपी

पूर्व विधायक और रायपुर बीजेपी जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने बताया कि उनके द्वारा मांग किए जाने पर पीएल पुनिया के खिलाफ राज्य शासन द्वारा अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 4:04 pm, Thu, 15 October 20

कांग्रेस (Congress) के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया (PL Punia) कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमित पाए गए हैं, जिसके बाद छत्तीसगढ़ बीजेपी (Chhattisgarh BJP) अब उनके खिलाफ कोर्ट जाने वाली है. दरअसल बीजेपी का आरोप है कि पुनिया ने महामारी एक्ट का उल्लंघन किया है, वह कोरोना संक्रमित होने के बावजूद भी सार्वजनिक बैठकों में हिस्सा लेते रहे हैं.

दप्रिंट के मुताबिक पार्टी के पूर्व विधायक और रायपुर बीजेपी जिला अध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी ने बताया कि उनके द्वारा मांग किए जाने पर पीएल पुनिया के खिलाफ राज्य शासन द्वारा अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

सुंदरानी ने कहा कि यह सीधे तौर पर महामारी एक्ट और आपदा प्रबंधन कानून का उल्लंघन है. इसलिए अब उन्होंने न्यायालय जाने की तैयारी कर ली है.

यह भी पढ़ें- लखनऊ: विधानसभा के सामने आत्मदाह करने वाली महिला की मौत, एक गिरफ्तार

सुंदरानी का आरोप है कि पीएल पुनिया ने अपने कोविड-19 पॉजिटिव होने की जानकारी को छुपाई है और इस दौरान वह मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, कैबिनेट मंत्रियों सहित पार्टी के कई कार्यकर्ताओं से मुलाकात के साथ-साथ बैठकों को भी संबोधित किया.

सैंपल दिया लेकिन क्वारेंटीन नहीं हुए

छत्तीसगढ़ में विपक्षी दलों का कहना है कि पुनिया ने 9 अक्टूबर को अपने प्रदेश प्रवास के दौरान कोरोना जांच के लिए सैंपल दिया था लेकिन उसके बाद वह स्वयं को आइसोलेट करने की बजाए सार्वजनिक कार्यक्रमों में हिस्सा लेते रहे जो महामारी और आपदा प्रबंधन कानून का खुला उल्लंघन है. सैंपल देने के अगले दिन भी पुनिया लगातार लोगों से मिलते रहे और शाम को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई.

सुंदरानी का कहना है कि पुनिया को सैंपल देने के बाद नियमानुसार आइसोलेट हो जाना चाहिए था, लेकिन कांग्रेस नेता जानबूझकर पार्टी के लोगों और कार्यकर्ताओं से मुलाकात करते रहे. उन्होंने महामारी एक्ट की धारा 188, 268, 270 और आपदा प्रबंधन एक्ट का उल्लंघन किया है. उन्होंने कहा कि हमने सरकार से कार्रवाई की मांग पहले की थी लेकिम सरकार ने इसमें कुछ नहीं किया. आगे उन्होंने कहा कि पुनिया की जगह कोई और होता तो अब तक सारी कानूनी कार्रवाई हो चुकी होती.

यह भी पढ़ें- टीआरपी घोटाला: BARC का बड़ा फैसला, न्यूज चैनलों की रेटिंग अस्थाई रूप से निलंबित

बीजेपी सांसद सुनील सोनी ने भी पुनिया पर आरोप लगाते हुए 11 सितंबर को कहा था कि कांग्रेस नेता को अपने कोरोना संक्रमित होने की जानकारी थी, लेकिन उन्होंने उसके बावजूद भी दिल्ली की हवाई यात्रा की.

हर रोज आ रहे ढाई हजार मामले

बता दें कि छत्तीसगढ़ में अब तक कोरोना के 1,50,696 मामले सामने आ चुके हैं. इनमें से 121,548 मरीज ठीक हो चुके हैं और 27,809 अभी एक्टिव हैं. करीब 1355 मरीजों की मौत भी हो चुकी है. प्रदेश में 2500-2800 मरीज हर रोज निकल कर आ रहे हैं.