Coronavirus : DRDO चीफ बोले- अगले महीने तक बना लेंगे 10 हजार वेंटिलेटर

DRDO चीफ के मुताबिक DRDO के साइंटिस्ट ने पिछले 4 दिनों में एक ऐसा वेंटिलेटर विकसित किया है, जिसका इस्तेमाल 4 से 8 लोग कर सकते हैं.

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (Defense research and development organization) ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए कमर कस ली है. एक टेलीफोनिक इंटरव्यू में DRDO के चेयरमैन जी. सतीश रेड्डी (G. Satish reddy) ने बताया कि 10 से 15 दिनों में 20 हजार सैनेटाइजर की बोतलें और लगभग 35 हजार मास्क बनाए गए हैं. रेड्डी के मुताबिक एक हफ्ते में वेंटिलेटर की आपूर्ति शूरू हो जाएगी. इसके लिए आज से उत्पादन शुरू किया गया है जिसके लिए 10 से 20 लाख का टारगेट फिक्स है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

रेड्डी ने बताया कि अगला महीना खत्म होने तक वो 10,000 वेंटिलेटर बना लेंगे. वेंटिलर के कुछ पार्ट्स मिलने में मुश्किलआ रही है मगर BEL और दूसरे इसका उत्पादन ज्यादा करने लगेंगे.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

जी. सतीश रेड्डी के मुताबिक DRDO के साइंटिस्ट ने पिछले 4 दिनों में एक ऐसा वेंटिलेटर विकसित किया है, जिसका इस्तेमाल 4 से 8 लोग कर सकते हैं. हम अगले दो महीने में ऐसे 30 हजार वेंटिलेटर और बना लेंगे और इसकी आपूर्ति कर पाएंगे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

DRDO चीफ ने कहा कि IIT हैदराबाद ने भी वेंटिलेटर्स पर रिसर्च की है. अगर सफलता मिली तो हम 30 हजार से ज्यादा वेंटिलेटर बनाकर सकते हैं. ये अनेस्थेटिया वेंटीलेटर होंगे. एक वेंटिलेटर के ऊपर करीब 4लाख रुपये का खर्च आएगा.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है. कोरोना पीड़ितों की संख्या 800 से ऊपर जा चुकी है और अबतक 21 लोगों की मौत हो गई है. वहीं, 76 लोग ऐसे भी हैं जो इस महामारी (Pandemic) की चपेट में आने के बाद अब ठीक हो चुके हैं. कोरोना महामारी को देखते हुए देश में 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) चल रहा है.

Related Posts