Coronavirus: तबलीगी जमात के 400 से ज्यादा लोग Corona पॉजिटिव, 9000 क्वारंटीन में

अब तक 400 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिसमें तमिलनाडु में 173, राजस्थान में 11, अंडमान निकोबार में 9, दिल्ली में 47, पुडुचेरी में 2, तेलंगाना में 33, जम्मू-कश्मीर में 22, आंध्र प्रदेश में 67 और असम में 16 तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) में शामिल हुए थे.
Coronavirus 9000 thousand people Quarantine, Coronavirus: तबलीगी जमात के 400 से ज्यादा लोग Corona पॉजिटिव, 9000 क्वारंटीन में

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान मरकज सम्मेलन में शामिल हुए तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) और उनके करीबी 9000 लोगों को चिन्हित कर क्‍वारंटीन (Quarantine) में रखा गया है. कुल 400 संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. केंद्र सरकार (Central Government) के मुताबिक नौ हजार में 1306 लोग विदेशी हैं और 2000 तबगीली जमात सदस्य दिल्ली में है. इनमें से 1804 को क्‍वारंटीन में भेज दिया गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने सभी राज्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए तबलीगी जमात के मामलों को खोजने और उनकी जांच कराने को कहा था. इसके बाद अब तक 400 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिसमें तमिलनाडु में 173, राजस्थान में 11, अंडमान निकोबार में 9, दिल्ली में 47, पुडुचेरी में 2, तेलंगाना में 33, जम्मू-कश्मीर में 22, आंध्र प्रदेश में 67 और असम में 16 तबलीगी जमात में शामिल हुए और उनके करीबियों को संक्रमित होने के चलते अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

‘जान बचाने वालों पर हमला गलत’

उन्होंने चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ पर हो रहे हमलों को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा कि यह सोचने का विषय है कि जो लोग मौजूदा समय में जान बचाने के लिए आगे आए हैं. उनके साथ ऐसा व्यवहार किया जा रहा है. अग्रवाल ने कहा कि ऐसे समय में लोगों से अपील है कि वह लॉकडाउन (Lockdown) का पूरी तरह से पालन करें और सरकार कि ओर से उठाए जा रहे कदमों में सहयोग करें. याद रहे कि तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) का मामला सामने आने के बाद पिछले दो दिन में तेजी से Covid-19 संक्रमण के मामलों में तेजी आई है. हालांकि अभी तक स्वास्थ्य मंत्रालय ने कम्यूनिटी ट्रांसमिशन (Community transmission) से इनकार किया है.

देशभर में आए 328 नए मामले 

गृह मंत्रालय की संयुक्त सचित पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि प्रधानमंत्री ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर विभिन्न स्तरों पर आज चर्चा की है. इसमें तबलीगी जमात के लोगों और उनके करीबियों के इलाज समेत अन्य पहलुओं पर भी बात की गई है. लॉकडाउन को सख्ती से लागू करने के संबंध में मंत्रालय पहले ही राज्यों को निर्देश जारी कर चुका है. उन्होंने कहा कि खाद्य आपूर्ति के लिए विभिन्न माध्यमों से देश के हर एक कोने में आपूर्ति की जा रही है. इस दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय ने साफ किया कि देश में बुधवार से लेकर आज तक में देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के 328 नए मामले सामने आए है. जबकि 12 लोगों की इस जानलेवा वायरस से मौत के साथ कुल आंकड़ा 50 पहुंच गया है. अभी तक कुल संक्रमित मामलों कि संख्या 1965 है, जिसमें से 151 लोग पूरी तरह ठीक हो गए हैं और यह एक सकारात्मक खबर है. कुल 1764 संक्रमित लोगों का इलाज चल रहा है.

एक करोड़ टेस्ट किट और मास्क बनाने का काम शुरू

मुंबई के धारावी में कोरोना वायरस का मामला मिलने के सवाल पर संयुक्त सचिव अग्रवाल ने बताया कि उस कॉलोनी में घर को सील कर दिया गया है और मकान के सभी निवासियों के नमूनों को इकट्ठा करने का कार्य चल रहा है. साथ ही संपर्क में आए लोगों कि ट्रेसिंग का काम भी शुरू हो गया है. इसमें कुल 4000 वॉलिंटियर और पैरामेडिकल स्टाफ काम कर रहा है. स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि हमें 1.5 करोड़ पीपीई (सुरक्षा किट) के लिए आदेश दिया है, उसकी आपूर्ति शुरू हो गई है. उन्होंने कहा कि घरेलू स्तर पर N-95 मास्क बनाने का काम भी शुरू हो गया है. पीपीई को राज्यों को भी भेजा गया है. साथ ही एक करोड़ एन-95 मास्क का भी ऑर्डर दिया गया है. स्वास्थ्य सचिव अग्रवाल ने कहा कि कोरोना का इलाज कर रहे डॉक्टरों के संक्रमित होने के बहुत कम मामले सामने आए है, लेकिन फिर भी यह जरूरी है कि अस्पतालों में भी संक्रामक रोगों से बचने के लिए सुरक्षा उपायों को अपनाया जाए.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts