दिल्ली सरकार ने रैपिड एंटीजन टेस्ट के लिए जारी किए आदेश, जानें किन लोगों की जरूर होगी जांच

दिल्ली सरकार (Delhi Government) के सभी अस्पतालों के मेडिकल डायरेक्टर/ मेडिकल सुपरिटेंडेंट और डायरेक्टर को निर्देश दिया गया है कि वो अपने यहां इस श्रेणी में आने वाले सभी लोगों/मरीजों का अनिवार्य रूप से रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) कराएं.
delhi rapid antigen test, दिल्ली सरकार ने रैपिड एंटीजन टेस्ट के लिए जारी किए आदेश, जानें किन लोगों की जरूर होगी जांच

दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने अपने सभी हेल्थ केयर फैसिलिटीज जैसे हॉस्पिटल आदि में अनिवार्य रैपिड एंटीजन टेस्ट (Rapid Antigen Test) के आदेश दिए हैं. ये टेस्ट इन लोगों पर जरूर होंगे…

  • 1. सभी लोग/मरीज़ जिनको इन्फ्लुएंजा लाइक इलनेस (ILI) यानि खांसी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण हैं.
  • 2. ऐसे सभी एडमिट मरीज़ जिनको सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी इलनेस (SARI) यानि सांस फूलना, निमोनिया की बीमारी है.
  • 3. ऐसे सभी बिना लक्षण वाले मरीज़ जो एडमिट हैं या एडमिशन मांग रहे हैं.
  • a. कीमोथेरेपी कराने वाले मरीज
  • b. HIV पॉजिटिव मरीज़
  • c. ट्रांसप्लांट वाले मरीज
  • d. 65 साल से ऊपर के मरीज जिनको पुरानी गंभीर बीमारी है

दिल्ली सरकार के सभी अस्पतालों के मेडिकल डायरेक्टर/ मेडिकल सुपरिटेंडेंट और डायरेक्टर को निर्देश दिया गया है कि वो अपने यहां इस श्रेणी में आने वाले सभी लोगों/मरीजों का अनिवार्य रूप से रैपिड एंटीजन टेस्ट कराएं.

क्या है रैपिड एंटीजन टेस्ट?

इस तकनीक में व्यक्ति की नाक की दोनों तरफ़ से फ्लूइड का सैंपल लिया जाता है. फिर उसको पास ही मौजूद एक मोबाइल बैन के अंदर बनी छोटी से लेबोरेटरी के अंदर टेस्ट किया जाता है. अगर टेस्टिंग स्ट्रिप पर एक लाइन आती है तो इसका मतलब नेगेटिव होता है. लेकिन उसको पुख्ता तौर पर नेगेटिव नहीं माना जा सकता और कन्फर्म करने के लिए RT-PCR टेस्ट ज़रूरी होता है.

अगर दो लाल लकीर दिखाई देती हैं तो इसका मतलब व्यक्ति पॉजिटिव है जिसको पुख्ता तौर पर पॉजिटिव मान लिया जाएगा. लेकिन अगर कोई लकीर नहीं देखती तो इसका मतलब टेस्ट बेनतीजा है. इस तकनीक में टेस्ट का नतीजा 15 से 30 मिनट के अंदर आ जाता है. इस तकनीक को साउथ कोरिया की मानेसर स्थित कंपनी ने तैयार किया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

Related Posts