Coronavirus को मात देने के लिए दिल्ली सरकार ने बनाया ‘Triple-T’ प्लान

दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए आदेश में यह साफ कहा गया है कि 'रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट' (Rapid Antigen Detection Test) की सुविधा अब दिल्ली सरकार के हर पॉलीक्लीनिक और डिस्पेंसरी पर उपलब्ध होगी.

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus) का कहर जारी है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने टेस्टिंग में तेजी लाने के लिए ‘Triple-T’ यानी Test-Track-Treat प्लान को लागू किया है. दिल्ली सरकार के मुताबिक इस प्लान से टेस्टिंग की रफ्तार बढ़ेगी और लोगों को सहूलियत होगी.

पॉलीक्लीनिक और डिस्पेंसरी पर हो सकेंगे Rapid Antigen Test

दिल्ली सरकार द्वारा जारी किए गए आदेश में साफ कहा गया है कि ‘रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट‘ की सुविधा अब दिल्ली सरकार के हर पॉलीक्लीनिक और डिस्पेंसरी पर उपलब्ध होगी. सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक दिल्ली सरकार के पॉलीक्लीनिक और डिस्पेंसरी पर रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट कराए जा सकेंगे. नई स्ट्रेटजी इस आदेश के जारी होते ही लागू कर दी गई है. हालांकि दिल्ली सरकार पहले ही साफ कर चुकी है कि ‘रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट’ उन्हीं लोगों के होंगे जिनको ILI (influenza like-illness) Symptoms या SARI (severe acute respiratory infection) या फिर वे किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के सीधे संपर्क में आए हों.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

टेस्टिंग में तेजी लाने का प्लान

1. कंटेनमेंट जोन में टेस्टिंग में वृद्धि लाना

दिल्ली में अभी करीब 400 कंटेनमेंट जोन हैं, ऐसे में दिल्ली सरकार ने आदेश में कहा है कि सुनिश्चित किया जाए कि कंटेनमेंट जोन में लोगों की हर हाल में टेस्टिंग की जा सके.

– पहले वे लोग जिन्हें लक्षण हैं, यानी ILI (influenza like-illness) Symptoms या SARI (severe acute respiratory infection)
– दूसरे वे लोग जो संक्रमित व्‍यक्ति के संपर्क में आये हों या जिनका संक्रमित होने का खतरा ज्यादा हो.
इस तरह के संदिग्ध लोगों की 3 चरणबद्ध स्तर पर सर्वे के जरिए ट्रेकिंग की जाएगी.

2. स्वास्थ्य सेवाओं और इलाज के दौरान टेस्टिंग

-आदेश में साफ कहा गया है कि सरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाएं देने वाली संस्थाएं यह सुनिश्चित करें कि ILI (influenza like-illness) Symptoms या SARI (severe acute respiratory infection) वाले सभी मरीजों या संदिग्ध का रैपिड एंटीजन टेस्ट हो.
– अस्पताल में भर्ती होने वाले सभी मरीज या संदिग्ध, जिनको कोई लक्षण नहीं है और वे गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं, जैसे कैंसर, एड्स, किडनी या लंग्स से जुड़ी बीमारी या 65 वर्ष से अधिक हों, इस सभी का रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट कराया जाए.
– इसी के साथ ही उन मरीजों और संदिग्धों का भी रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट हो जो Dentist या ENT संबंधित इलाज करा रहे हों.

हालांकि इससे पहले दिल्ली सरकार रिवाइज्ड कोविड रिस्पांस प्लान के तहत अलग-अलग श्रेणी के लिये SOPs जारी कर चुकी है.

3-स्पेशल सर्विलांस ग्रुप (SSGs) की टेस्टिंग

– दिल्ली सरकार के अस्पताल और डिस्पेंसरी में आने वाले व्यक्तियों का आईसीएमआर (ICMR) की गाइडलाइन के तहत टेस्टिंग की जाएगी.
– DM Central ऑटो चालक, टैक्सी चालक, सामान ढोने वाले व्यक्तियों की टेस्टिंग के लिए विशेष अभियान चलाएंगे.
– DM दक्षिण पूर्वी मजदूरों के लिए कोटला मुबारकपुर और साउथ एक्सटेंशन इलाके के पास रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट कैंप लगाएंगे.
– DM नार्थ और DM पूर्व आजादपुर मंडी और गाज़ीपुर मंडी में सब्जी बेचने वालों, आढ़तियों और मजदूरों के लिए रैपिड एंटीजन डिटेक्शन टेस्ट कैंप लगाएंगे.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts