Coronavirus: सीएम केजरीवाल ने बताया दिल्ली में कैसे काबू में आया संक्रमण, इन 3 तरीके से थामी रफ्तार

केजरीवाल (Kejriwal) ने कहा कि पहले लोगों को डर था कि पॉजिटिव आये तो कहीं क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में न भेज दिया जाए. होम आइसोलेशन (Home Isolation) की वजह से लोग बिना डरे टेस्ट करवाने के लिए सामने आए.
Corona-virus situation improved in Delhi, Coronavirus: सीएम केजरीवाल ने बताया दिल्ली में कैसे काबू में आया संक्रमण, इन 3 तरीके से थामी रफ्तार

कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ जंग में दिल्ली सरकार की तैयारियों की मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने प्रेस कांफ्रेंस करके जानकारी दी. सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार (Central Government) के फार्मूले के हिसाब से आज तक सवा 2 लाख केस होने का अनुमान था. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कहा कि अनुमान था कि 1 लाख 34 हजार एक्टिव केस होने थे और 34 हजार बेड की ज़रूरत पड़ती, लेकिन दिल्ली और केंद्र सरकार ने प्रयास करके केस बढ़ने से रोके हैं.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

बीजेपी और कांग्रेस को थैंक्स

केजरीवाल ने कहा कि आज 18 हजार से ज्यादा केस ही एक्टिव हैं, केवल 4 हजार बेड्स की ज़रूरत पड़ रही है, हमने साढ़े 15 हजार बेड्स का इंतजाम कर लिया है. केजरीवाल (Kejriwal) ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए दिल्ली (Delhi) ने 3 सिद्धांत पर काम किया है. पहला सिद्धांत था कि अकेले इस लड़ाई को लड़ा नही जा सकता, आज बीजेपी, कांग्रेस सबका धन्यवाद करना चाहता हूं.

मुख्यमंत्री बोले जो कमियां गिनाई गई हमने नाराज़गी ज़ाहिर नहीं की बल्कि उस गलती को सुधारा. LNJP अस्पताल में जितनी गलतियां निकाली गईं, उन्हें एक-एक करके ठीक कर लिया गया.

हम कभी हार नहीं माने

दूसरा सिद्धांत था कि बुराई और गलती बताने वालों से नाराज़ नहीं होना है. तीसरा सिद्धांत हम कभी हार नहीं मानें. प्रधानमंत्री (PM Modi) ने भी दिल्ली मॉडल (Delhi Model) की तारीफ की है. दिल्ली में होम आइसोलेशन (Home Isolation) के दौरान सरकार ने बेहतर सुविधा दी, मेडिकल टीम मरीज को फोन करती हैं, ऑक्सीमीटर मुहैया कराती है, काउंसिलिंग करती है.

होम आइसोलेशन की वजह से टेस्ट कराने आए लोग

पहले लोगों को डर था कि पॉजिटिव आये तो कहीं क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में न भेज दिया जाए. होम आइसोलेशन (Home Isolation) की वजह से लोग बिना डरे टेस्ट करवाने के लिए सामने आए. दिल्ली में मौत के आंकड़े बेहद कम हुए हैं, जून में 100 से ऊपर मौतें हुईं, अब 30 से 35 मौत ही हो रही हैं, मृत्यु दर पर लगाम लगी है.

आज 15 हजार बेड्स मौजूद

दिल्ली सीएम (Delhi CM) ने कहा कि मौतों को रोकने के लिए प्लान बनाया है, टेस्टिंग बढ़ा दी है ताकि तुरंत बीमारी के बारे में पता लग जाये और इलाज हो. एम्बुलेंस आधे घण्टे में मरीज के पास पहुंचती है. अस्पताल पहुंचने के बाद एम्बुलेंस मरीज को होल्डिंग एरिया में ले जाती है.

केजरीवाल बोले 1 जून में बेड्स की कमी हो गयी थी, आज साढ़े 15 हजार बेड्स हैं. 1 जून को 300 ICU थे आज 2100 बेड्स हैं. प्लाज़्मा थेरेपी के अच्छे रिजल्ट आये, प्लाज़्मा बैंक से काफी मदद मिली. जून के मुकाबले में आज काफी अच्छी स्थिति में हैं, लेकिन हाथ मे हाथ रखकर नहीं बैठना है, अपनी सेफ्टी अपने हाथ है.

देखिये #अड़ी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर शाम 6 बजे

Related Posts