14 घंटों तक चली कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक, भारत का चीन को साफ संदेश- उकसाया तो मिलेगा जवाब

देर रात तक हुई बैठक की बातचीत में क्या-क्या हुआ इसे लेकर भारतीय डेलीगेशन ने आर्मी हेडक्वार्टर, रक्षा मंत्री, विदेश मंत्री और NSA को ब्रीफ किया.

india china standoff

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेना के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने के इरादे से सोमवार को छठी बार कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक की गई है. इस बैठक में विदेश मंत्रालयल के अधिकारी भी मौजूद थे और ये करीब 14 घंटे तक चली. देर रात तक हुई बैठक की बातचीत में क्या-क्या हुआ इसे लेकर भारतीय डेलीगेशन ने आर्मी हेडक्वार्टर, रक्षा मंत्री, विदेश मंत्री और NSA को ब्रीफ किया.

कमांडर लेवल की बातचीत पर मिली जानकारी के मुताबिक :

  • भारतीय पक्ष ने चीन के मेजर जनरल ल्यु लीन और उनकी टीम को साफ तौर पर देपसांग से लेकर पैंगोंग त्सो तक PLA को पीछे हटने के लिए कहा.
  • विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने चीन की टीम को बताया कि WMCC की बातचीत में चीन का इन इलाकों को लेकर पहले और अब क्या रुख रहा है.
  • चीनी पक्ष की तरफ से ब्लैक टॉप से भारतीय सेना के पीछे हटने की मांग को भारत ने खारिज कर दिया है.
  • चीन आर्मी के किसी भी उकसावे पूर्ण कार्रवाई के खिलाफ भारतीय सेना द्वारा जवाबी कार्रवाई की जाएगी.

इस बातचीत में आगे की रणनीति को लेकर भी मंथन किया गया. मालूम हो कि भारत और चीन पिछले चार महीनों से पूर्वी लद्दाख इलाके में आमने सामने हैं. सीमा पर इस तनाव को कम करने के लिए राजनयिक और सैन्य स्तरों पर कई बार बातचीत की जा चुकी है. हालांकि तनाव अभी तक कम नहीं हुआ है.

Related Posts