कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को विदेश जाने की दी इजाजत, तो जमानत रद्द कराने की तैयारी में जुटी ED

हैरानी वाली बात ये रही कि इस केस की जांच कर रहे है आईपीएस राजीव शर्मा को जांच से हटा दिया गया है. अब इस केस की जांच आयकर विभाग से ईडी में आए महेश गुप्ता करेंगे.
रॉबर्ट वाड्रा, कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को विदेश जाने की दी इजाजत, तो जमानत रद्द कराने की तैयारी में जुटी ED

नई दिल्ली: विदेश जाने से पहले सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा से ईडी ने 13वीं बार घण्टों पूछताछ की. वहीं इस केस के जांच अधिकारी को हटाकर नया जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है. मनी लॉड्रिंग मामले की जांच का सामना कर रहे रॉबर्ट वाड्रा मंगलवार को 13वीं बार ईडी के दफ्तर पूछताछ के लिए पहुंचे. पूरे दिन उनसे पूछताछ चलती रही.

प्रवर्तन निदेशालय कुछ दस्तावेजों के आधार पर रॉबर्ट वाड्रा की हाईकोर्ट में जमानत रद्द करवाने की तैयारी कर रहा है. उस दस्तावेज में लिखी बातों के हिसाब से रॉबर्ट वाड्रा ने इस मामले से जुड़ी पूजा चड्ढा, सुमित चड्डा, विपुल बेरीवाला, संजीव वर्मा और जगदीश शर्मा के बारे में कहा है कि वो उन्हें नही जानते. जबकि जांच के पता चला है कि वाड्रा सुमित चड्ढा को संजय भंडारी के जरिए जानते हैं.

वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोरा ने पूछताछ में कहा कि वो मोबाइल पर बातचीत के जरिए वाड्रा से संपर्क में थे. संजय वर्मा के बारे में मनोज अरोड़ा ने कहा कि वो उसे नहीं जानता. वहीं जगदीश शर्मा ने ईडी को बताया कि वो रॉबर्ट वाड्रा के काफी करीब हैं. रॉबर्ट वाड्रा ने पूछताछ में कहा कि वो सीसी थंपी से एमिरेट्स की फ्लाइट में मिले थे. जबकि थंपी ने पूछताछ में बताया कि वो सोनिया गांधी के पीए माधवन के जरिए रॉबर्ट वाड्रा से मिले थे.

ईमेल के बारे में सिर्फ रॉबर्ट वाड्रा ही बता सकते हैं

रॉबर्ट वाड्रा ने पूछताछ में कहा कि लंदन में जिस संपत्ति का जिक्र हो रहा है वहां वो कभी नही रुके. जबकि थंपी ने पूछताछ के दौरान बताया कि रॉबर्ट वाड्रा वहां रुक चुके हैं. वाड्रा ने पूछताछ में बताया कि जिस ईमेल आईडी पर सुमित चड्ढा और पूजा चड्ढा ने मेल किए वो वाड्रा का ही है, लेकिन वो मेल वाड्रा को नहीं लिखे गए थे. वहीं वाड्रा के करीबी मनोज अरोरा ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा को मेल तो आए थे. जिनके बारे में सिर्फ वही बता सकते हैं.

जब रॉबर्ट वाड्रा से पूछा गया कि क्या लोग रॉबर्ट वाड्रा को RV के नाम से जानते हैं, तो रॉबर्ट वाड्रा ने मना कर दिया. जबकि वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोरा ने कहा कि MRV का मतलब है मिस्टर रॉबर्ट वाड्रा. ईडी ने वाड्रा से पूछा कि क्या लोग उन्हें साहेब या रॉबर्ट साहेब के नाम से पुकारते हैं तो वाड्रा ने जवाब दिया कि उनके सहयोगी उन्हें बॉस बुलाते हैं.

वहीं वाड्रा के करीबी जगदीश शर्मा, अनुज नोटियाल और मनोज अरोरा ने कहा कि उन्हें रॉबर्ट साहेब, RV, बॉस और साहब नाम से पुकारते हैं. इसी दस्तावेज को आधार बनाकर जिनमें रॉबर्ट वाड्रा और उनके सहयोगियों के बीच विरोधाभास बयान हैं. ईडी रॉबर्ट वाड्रा की अग्रिम जमानत खारिज करवाने के लिए हाई कोर्ट गई है. ये दस्तावेज इसी साल 18 मार्च का है.जिसे कई बयानों और सबूतों के आधार पर तैयार किया गया था.

रॉबर्ट वाड्रा को मिली विदेश जाने की इजाजत

इस पूछताछ के बाद हैरानी वाली बात ये रही कि इस केस की जांच कर रहे है आईपीएस राजीव शर्मा को जांच से हटा दिया गया है. अब इस केस की जांच आयकर विभाग से ईडी में आए महेश गुप्ता करेंगे. इससे पहले सोमवार को कोर्ट ने इलाज के लिए वाड्रा को नीदरलैंड और अमेरिका जाने की अनुमति दे दी थी. हालांकि वाड्रा ने लंदन जाने के लिए अर्जी दी थी. जिसे ईडी के विरोध के बाद कोर्ट ने ठुकरा दिया था.

पूछताछ के लिए जाने से पहले वाड्रा ने फेसबुक पर लिखा, “मैं 13वीं बार पूछताछ के लिए जा रहा हूं, इससे पहले मुझसे 80 घंटे पूछताछ हो चुकी है और मैंने ईडी के सभी सवालों के जबाब दिए. मैं पिछले एक दशक से इन आरोपों से लड़ रहा हूं. समाजसेवा करता हूं और एक किताब लिख रहा हूं. जिसमें सच सामने आएगा.”

वाड्रा पर 2009-10 में पेट्रो डील और डिफेंस डील में मिले कमीशन से सेल कंपनियों के जरिए लंदन में संपत्तियां खरीदने का आरोप है. सूत्रों के मुताबिक वाड्रा इसी हफ्ते विदेश निकल जाएंगे और साथ में उनकी पत्नी प्रियंका गांधी भी जा रही हैं.

ये भी पढ़ें: नीतीश कुमार पर कसा तंज तो अमित शाह ने गिरिराज को दे डाली ये नसीहत

Related Posts