Unnao Rape Case: विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर 16 दिसंबर को आएगा कोर्ट का फैसला

साल 2017 में कथित तौर पर सेंगर ने महिला को अगवा करके रेप किया था, उस समय पीड़िता नाबालिग थी.

दिल्ली की एक अदालत ने बीजेपी से निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के मामले में फैसला अगले हफ्ते तक सुरक्षित रख लिया है. सेंगर पर साल 2017 में यूपी के उन्नाव में एक महिला को अगवा करके उससे बलात्कार करने का मामला चल रहा है.

जिला न्यायधीश धर्मेश शर्मा ने कहा कि वह इस मामले में 16 दिसंबर को सजा सुनाएंगे.

सीबीआई ने इस मामले में सोमवार को अपनी दलीलें पूरी कर ली थी. 2 दिसंबर को बचाव पक्ष के गवाहों के बयान कैमरे के समक्ष हुई सुनवाई में रिकॉर्ड कराए गए थे.

साल 2017 में कथित तौर पर सेंगर ने महिला को अगवा करके रेप किया था, उस समय पीड़िता नाबालिग थी. अदालत ने इस मामले में सह-आरोपी शशि सिंह के खिलाफ भी आरोप तय किए हैं.

इसी साल जुलाई महीने में सेंगर पर आरोप लगाने वाली महिला की कार को एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी. इस हादसे में पीड़िता गंभीर रूप से घायल हुई थी. साथ ही पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी. हादसे पर परिवार ने गुंडागर्दी का आरोप लगाया था.

इस हादसे के बाद सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीतापुर जेल में बंद रहे सेंगर को तिहाड़ शिफ्ट कर दिया गया था. साथ ही भाजपा ने सेंगर को पार्टी से निष्कासित कर दिया था.

इस पूरे मामले में 5 एफआईआर दर्ज हैं, जिसमें 16 दिसंबर को फैसला आ सकता है. अन्य 4 मामलों में भी सुनवाई अभी चल रही है. मामले में दूसरी एफआईआर पीड़िता के साथ हुए गैंगरेप को लेकर दर्ज की गई थी. जबकि तीसरी एफआईआर पीड़िता के पिता के साथ मारपीट और फिर पुलिस कस्टडी में हुई उसकी मौत से जुड़ी हुई है.

ये भी पढ़ें-

यूपी: कानपुर में नाबालिग से छेड़छाड़, आरोपियों ने ‘उन्नाव जैसी हालत’ करने की दी धमकी

सूटकेस में मिली थी लड़की की सिरकटी लाश, पिता ही निकला हत्यारा