Covid-19: दिल्ली सरकार ने अस्पतालों को जारी किया नोटिस, पूछा- मौत के आंकड़ों की रिपोर्ट में देरी क्यों?

दिल्ली सरकार (Delhi Government) के बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल, गुरु तेग बहादुर अस्पताल और राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल को चेतावनी देकर पूछा गया है कि आखिर मौत के मामले की देर से रिपोर्टिंग की वजह क्या है?
Covid-19 Delhi government issued notice to hospitals, Covid-19: दिल्ली सरकार ने अस्पतालों को जारी किया नोटिस, पूछा- मौत के आंकड़ों की रिपोर्ट में देरी क्यों?

दिल्ली (Delhi) में कोरोनावायरस (Coronavirus) से हो रही मौतों के आंकड़ों की लेट रिपोर्टिंग के मामले में दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने राजधानी में राज्य सरकार और केंद्र सरकार के अस्पतालों को चेतावनी और कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

दिल्ली सरकार के बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल, गुरु तेग बहादुर अस्पताल और राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल को चेतावनी देकर पूछा गया है कि आखिर मौत के मामले की देर से रिपोर्टिंग की वजह क्या है? और क्यों इन अस्पतालों ने दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग और दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के निर्देशों का उल्लंघन किया?

अस्पतालों से पूछा, मौत के आंकड़ों में देर क्यों?

केंद्र सरकार के अस्पताल AIIMS, राम मनोहर लोहिया अस्पताल (RML) और सफदरजंग अस्पताल को कारण बताओ नोटिस देकर पूछा गया है कि मौत के मामलों की देर से रिपोर्टिंग की वजह क्या है? और स्वास्थ्य विभाग और दिल्ली दडिसास्टर मैनजमेंट अथॉरिटी के निर्देशों का उल्लंघन क्यों किया गया? दिल्ली सरकार के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल को भी कारण बताओ नोटिस दिया गया है.

LNJP अस्पताल को एडवाइजरी जारी करके कहा गया है कि वो भविष्य में सतर्क रहे और स्वास्थ्य विभाग के आदेशों का ठीक से पालन करें, जिससे सरकार के मौत के आंकड़ों के रिपोर्टिंग में गल्ती न हो.

क्या है मामला?

बता दें पिछले कुछ समय से दिल्ली में Covid-19 से मरने वाले लोगों के आंकड़ों में अनियमितता देखने को मिल रही है. दिल्ली में 10 मई तक कोरोना से मरने वाले लोगों की संख्या केवल 73 थी, जबकि 31 मई को दिल्ली सरकार के हेल्थ बुलेटिन में 473 कोरोना मरीजों की मृत्यु की बात कही गई है.

देखिए NewsTop9 टीवी 9 भारतवर्ष पर रोज सुबह शाम 7 बजे

दिल्ली सरकार ने 10 मई को आदेश जारी कर के सभी अस्पतालों से कहा था कि अस्पताल कहने के बावजूद मौत के मामलों की रिपोर्ट डेथ ऑडिट कमेटी (DAC) को नहीं भेज रहे हैं. इसलिए अब सभी अस्पताल हर शाम 5:00 बजे अपने यहां हुई मौतों की रिपोर्ट डेथ ऑडिट कमेटी को भेज दें.

मौत के आंकड़ों में गड़बड़

वहीं पिछले हफ्ते मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने जब सभी अस्पतालों से यह कहा कि वे यह सर्टिफिकेट दें कि उन्होंने अपने यहां हुई मौतों की सारी जानकारी डेथ ऑडिट कमेटी को भेज दी है, तब मंगलवार को सफदरजंग अस्पताल ने 52 मौतों की रिपोर्ट दिल्ली सरकार को भेजी.

31 मई को जारी किए गए दिल्ली सरकार के हेल्थ बुलेटिन में 57 मौत की बात की गई है, जिसमें से केवल 13 मौत ही पिछले 24 घंटों में हुई, जबकि 44 मौत 5 अप्रैल से लेकर 28 मई के बीच हुई थीं. वहीं 29 मई को दिल्ली सरकार के हेल्थ बुलेटिन में 82 मौत का जिक्र किया गया, जिसमें से केवल 13 ही पिछले 24 घंटे में हुई थी, जबकि 69 मौत 10 अप्रैल से लेकर 26 मई के बीच हुई थी. दिल्ली सरकार ने बताया था कि इनमें से 52 मौत अकेले सफदरजंग अस्पताल ने रिपोर्ट की है लेकिन देरी से रिपोर्ट की हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts