पॉल्‍यूशन कंट्रोल के लिए ‘वर्क फ्रॉम होम’ की सिफारिश, आप भी पढ़ लीजिए

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने पॉल्‍युशन कंट्रोल के लिए IT सेक्टर की कंपनियों से 'वर्क फ्रॉम होम' की सिफारिश की है.

Delhi NCR में लगातार खराब होते हवा के स्तर से इंसान ही नहीं पशु-पक्षी भी परेशान हैं. अक्टूबर के महीने में Delhi NCR में पॉल्‍यूशन काफी खराब स्तर तक पहुंच जाता है. जिसके चलते हर बार की तरह इस साल भी पशु-पक्षियों में कई तरह की जानलेवा बीमारियां देखने को मिल रही हैं.

वहीं केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने पॉल्‍यूशन कंट्रोल के लिए IT सेक्टर की कंपनियों से ‘वर्क फ्रॉम होम’ की सिफारिश की है. CPCB के सदस्य सचिव प्रशांत भार्गव ने पॉल्‍यूशन कंट्रोल को लेकर जरूरी जानकारी दी है.

  • आने वाले दिनों में स्थिति और ख़राब होगी.
  • हमने कुछ हॉटस्पॉट बनाए हैं.
  • हमारी 49 टास्क फ़ोर्स हैं जो ग्राउंड पर काम कर रही हैं.
  • हम सारी ऐजेंसियों के साथ डेटा शेयर कर रहे हैं.
  • दिल्ली सरकार से भी डेटा शेयर कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि सुबह टास्क फ़ोर्स के साथ मीटिंग की जिसमें पॉल्‍यूशन कंट्रोल के लिए ये सिफारिश की हैं.

  • हम IT सेक्टर की कंपनियों से अपील कर रहे हैं कि वर्क फ्रॉम होम को बढ़ावा दें.
  • सरकारी और प्राइवेट कंपनियों से कहा है कि कार पूलिंग और पब्लिक ट्रांसपोर्ट को बढ़ावा दें.
  • हम स्कूलों से कह रहे हैं कि बच्चों के जो अभिभावक अपनी प्राइवेट गाड़ियों से लेने आते हैं उन्हें कम करें.
  • स्कूल ख़ुद बच्चों को छोड़ने का इंतज़ाम करें.

ये भी पढ़ें- दिल्‍ली में इन 8 जगहों की हवा है सबसे ज्‍यादा खराब

ये भी पढ़ें- बीए पास वालों के लिए खुशखबरी, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नहीं मिलनी चाहिए 19,572 से कम सैलरी