चक्रवाती तूफान ‘वायु’ ने मुंबई में 1 व्यक्ति की ली जान, कल पहुंचेगा गुजरात

मुंबई में सुबह से ही तेज हवाएं चल रही हैं. इसके साथ ही पेड़ गिरने की घटनाएं भी देखी जा रही हैं.

नई दिल्ली: अरब सागर में हवा के कम दबाव की वजह से चक्रवाती तूफ़ान की स्थिति पैदा हो गई है. मौसम विभाग द्वारा मंगलवार को जारी बुलेटिन के अनुसार, सुदूर समुद्र में हवा के कम दबाव का क्षेत्र तेजी से बनने के कारण ‘वायु’ के 13 जून को गुजरात के तटीय इलाकों पोरबंदर और कच्छ क्षेत्र में पहुंचने की संभावना है.

इससे पहले पिछले महीने आए फोनी तूफान से ओडिशा में काफी तबाही हुई थी.

मुंबई में सुबह से ही तेज हवाएं चल रही हैं. ‘वायु’ चक्रवात को लेकर मुंबई में भी अलर्ट जारी किया गया है और सभी समुद्री तटों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं.

इसके साथ ही पेड़ गिरने की घटनाएं भी देखी जा रही हैं. ताज़ा जानकारी के मुताबिक मुंबई में चक्रवात की वजह से एक व्यक्ति की जान चली गई है.

मुंबई समेत महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में मछुआरों को अलर्ट जारी किया गया है. IMD (मौसम विभाग) के मुताबिक चक्रवाती तूफान महाराष्ट्र से उत्तर में गुजरात की ओर बढ़ रहा है.

विभाग ने अगले 24 घंटों में चक्रवाती तूफान के और अधिक गंभीर रूप धारण करने की संभावना व्यक्त करते हुये कहा कि उत्तर की ओर बढ़ता ‘वायु’ 13 जून को सुबह गुजरात के तटीय इलाकों में पोरबंदर से महुवा, वेरावल और दीव क्षेत्र को प्रभावित करेगा. इसकी गति 115 से 130 किमी प्रति घंटा तक हो सकती है.

चक्रवाती तूफान से गुजरात के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की उम्मीद है. इसके साथ ही 1 से 1.5 तक ज्वार उठने की उम्मीद है जिससे कच्छ, देवभूमि द्वारका, पोरबंदर, जूनागढ़, दीव, गिर सोमनाथ, अमरेली और भावनगर के निचले जिलों में पानी भरने की संभावना है.

मौसम विभाग ने इसके मद्देनजर सौराष्ट्र और कच्छ के तटीय इलाकों में 13 और 14 जून को भारी बारिश होने और 110 किमी प्रति घंटे की गति से तूफानी हवाएं चलने की चेतावनी जारी की है. इसे देखते हुये गुजरात सरकार ने भी ‘हाई अलर्ट’ जारी करते हुये सौराष्ट्र और कच्छ इलाकों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के जवानों को तैनात किया है.

तटीय क्षेत्रों में मछुआरों को अगले कुछ दिनों तक समुद्र में नहीं जाने की सलाह दी गई है. साथ ही बंदरगाहों को खतरे के संकेत और सूचना जारी करने को कहा गया है.

और पढ़ें- प्लेन को हाईजेक करने की धमकी पड़ी महंगी, बिरजू सल्ला को उम्रकैद

मुख्य सचिव जे.एन. सिंह ने कहा कि अभी जल्दी में तटीय जिलों से तत्काल निकासी की जरूरत नहीं थी, लेकिन अगर चक्रवात किसी तरह दिशा बदलती है या अगले 24 घंटों में तेज हो जाता है तो उसी के अनुसार निर्णय लिया जाएगा.

मुख्य सचिव ने कहा कि एनडीआरएफ की टीमों को तटवर्ती सौराष्ट्र क्षेत्र व गिर सोमनाथ में तैनात किया गया है और वे सेना, नौसेना व भारतीय तट रक्षक बल के साथ समन्वय कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि लोगों को सार्वजनिक माध्यमों, एसएमएस और व्हाट्सएप संदेशों के माध्यम से स्थिति के बारे में जागरूक किया जा रहा है.

जे.एन.सिंह ने कहा, “राज्य मशीनरी पूरी तरह से तैयार है और स्थिति से निपटने के लिए लैस है.”

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अधिकारियों के साथ मंगलवार को दो बार समीक्षा बैठक की.

और पढ़ें- विमान AN-32 की पहली तस्वीर आई सामने, घने जंगल में पड़ा है मलबा

सवालों का जवाब देते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि ओडिशा सरकार ने केंद्र की मदद से वहां चक्रवात फानी के दौरान एक सराहनीय काम किया था और वह उनसे परामर्श करेंगे.

उन्होंने कहा, “मैं ओडिशा सीएस (मुख्य सचिव) से उनके अनुभव के बारे में व गुजरात में यहां जरूरत पड़ने पर क्या क्रियान्वित किया जा सकता है, इस पर बात करूंगा.”

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मंगलवार को चक्रवाती तूफान ‘वायु’ की वजह से उत्पन्न होने वाली परिस्थितियों से निपटने के लिए राज्य और केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों की तैयारियों का जायजा लिया.

एक उच्चस्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा करने के बाद, शाह ने वरिष्ठ अधिकारियों को लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने और सभी जरुरी सामाग्रियों के रखरखाव जैसे बिजली, टेलीकम्युनिकेशन, स्वास्थ्य, पीने का पानी समेत अन्य चीजों को सुनिश्चित करने के लिए कहा है. इसके साथ ही तूफान से क्षति होने की स्थिति में इन चीजों को जल्द से जल्द बहाल करने के आदेश दिए.

आधिकारिक बयान के अनुसार, उन्होंने नियंत्रण कक्षों के 24 घंटों तैनात रहने के भी निर्देश दिए.

विज्ञप्ति के अनुसार, “एनडीआरएफ ने नौकाओं, ट्री-कटर्स, टेलीकॉम सामग्रियों के साथ अपनी 26 टीमों को तैनात किया है और गुजरात सरकार के आग्रह के आधार पर अन्य 10 टीमों को तैयार कर रही है. भारतीय तट रक्षक, नौसेना, थल सेना और वायु सेना को तैयार रखा गया है और निरीक्षक विमान और हेलीकॉप्टर हवाई सर्वेक्षण कर रहे हैं.”

और पढ़ें- पानी लेने कुएं में उतरी महिला की गिरकर मौत, सूखे के हालात पर मंत्री बोले- मीडिया का शिगूफा

(Visited 104 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *