गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ का खतरा टला, प्रशासन मुस्तैद

'वायु' को देखते हुए अब तक तीन लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है. एनडीआरएफ की टीमें लगातार बचाव कार्य में लगी हुई हैं.
cyclonic storm vayu, गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ का खतरा टला, प्रशासन मुस्तैद

नई दिल्ली: चक्रवाती तूफान ‘वायु’ गुजरात तट से कुछ ही घंटों में टकराने वाला है. राज्य में एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई हैं. अब तक तीन लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चुका है. कुल 80 ट्रेनों को कैंसल कर दिया गया है. साथ ही कई एयरपोर्टों से हवाई यातायात को भी सस्पेंड करने का फैसला लिया गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह हालात पर बराबर नजर बनाए हुए हैं. पीएम मोदी ने ट्वीट कर राज्य सरकार को हर संभव मदद देने की बात कही है. अमित शाह ने कहा कि गृह मंत्रालय लगातार राज्य सरकार और केंद्रशासित प्रदेश एवं केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में है. NDRF की 52 टीमें तूफान संभावित इलाकों में तैनात की गई हैं.

Live Updates:

  • गुजरात सरकार के कर विभाग में एडिशनल सेक्रेटरी पंकज कुमार ने चक्रवात ‘वायु’ से हुई संभावित मौतों के बारे में बयान दिया है. पंकज का कहना है कि अबतक वायु चक्रवात के कारण किसी के घायल होने की या मारे जाने का कोई मामला सामने नहीं आया है. जिन 6 लोगों की मौत की बात की जा रही है उनकी मौत चक्रवात नहीं बल्कि मानसून के कारण हुई.
  • राज्य सरकार के मंत्री भूपेन्द्र सिंह चूडासमा ने चक्रवात पर विवादित बयान दिया है. भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि ये कुदरती आफत है, कुदरत ही रोक सकती है, तो कुदरत को हम क्या रोकें. अलर्ट के बाद भी सोमनाथ मंदिर को खोलने के सवाल पर उन्होंने ये बात कही.
  • गुजरात में चक्रवात ‘वायु’ के आने का खतरा बना हुआ है. इस बीच मुंबई में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है. कहा जा रहा है कि मुंबई में करीब 3.83 मीटर ऊंची लहरें उठ सकती हैं.

  • अलर्ट के बावजूद श्रद्धालु सोमनाथ मंदिर में पूजा-पाठ के लिए पहुंचे हैं.

  • ‘वायु’ अरब सागर से पिछले 6 घंटे में उत्तर-पश्चिम की ओर मुड़ चुका है. यह वेरावल से 130 किमी दक्षिण और पोरबंदर से 180 किमी दक्षिण पर है. यह कुछ समय तक उत्तर-उत्तर पश्चिम दिशा में रहेगा. इसके बाद उत्तर पश्चिम की ओर मुड़ने वाला है. सौराष्ट्र तट पर 135-145 किमी प्रति घंटे की तेज हवा के साथ दस्तक देगा.
  • चक्रवाती तूफान को देखते हुए जिला प्रशासन और एनडीआरएफ ने हेल्पलाइन नंबर भी जारी किए हैं. एनडीआरएफ का हेल्पलाइन नंबर- 91-9711077372 है. राज्य के अन्य इलाकों के हेल्पलाइन नबंर इस प्रकार से हैं. जामनगर कंट्रोल रूम नंबर: 0288-2553404, द्वारका कंट्रोल रूम नंबर: 02833-232125, पोरबंदर कंट्रोल रूम नंबर: 0286-2220800, दाहोद कंट्रोल रूम नंबर: 02673-239277, नवसारी कंट्रोल रूम नंबरः 02637-259401, पंचमहल कंट्रोल रूम नंबर: +912672242536, छोटा उदयपुर कंट्रोल रूम नंबर: +912669233021, कच्छ कंट्रोल रूम नंबर: 02832-250080, राजकोट कंट्रोल रूम नंबर: 0281-2471573, अरावली कंट्रोल रूम नंबर: +912774250221
  • चक्रवाती तूफान ‘वायु’ कुछ इस तरह से गुजरात के अलग-अलग इलाकों को प्रभावित करने वाला है.

  • गुजरात के तटीय इलाकों में काफी तेज गति से हवाएं चल रही हैं. सोमनाथ मंदिर के प्रवेश द्वार के पास का शेड उखड़ गया है.

  • तूफान को देखते हुए पूरे राज्य में स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं.
  • गांधीनगर में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने ‘वायु’ को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की है.
  • कच्छ से लेकर पूरे दक्षिणी गुजरात में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है.
  • गुजरात के तटीय इलाके में 500 से अधिक गांव खाली कराए गए हैं.
  • प्रशासन ने तूफान के मद्देनजर खाने-पीने के पैकेट तैयार कर लिए हैं.
  • राज्य के कई इलाकों में धूल भरी तेज हवाएं चल रही हैं. कुछ जगहों पर बारिश भी हुई है.

ये भी पढें-

साइक्लोन वायु: NDRF ने खाली कराए समुद्र तट, मोदी बोले- केंद्र बनाए हुए है नजर

“क्या हमें माहौल को सांप्रदायिक होने से रोकने की सजा मिल रही है,” अंकित के पिता का सवाल

“ऑफिस का काम ऑफिस से करें और समय पर आएं,” पीएम मोदी ने मंत्रियों को दी नसीहत

Related Posts