CAA और NRC के विरोध में आज भारत बंद, जानें कैसा है असर?

CAA और NRC के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा के बैनर तले भारत बंद की अपील की गई. कई और दलित संगठनों ने भी बंद का समर्थन किया है.

नागरिकता संशोधन कानून ( Citizenship amendment act) नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) के विरोध में 29 जनवरी को भारत बंद का असर दिखना शुरू हो गया है. बहुजन क्रांति मोर्चा के बैनर तले भारत बंद की अपील की गई. कई और दलित संगठनों ने भी बंद का समर्थन किया है.

भारत बंद से जुड़े LIVE अपडेट्स यहां देखें-

सीएए और एनआरसी के विरोध में भारत बंद के तहत उदयपुर में बंद करा रहे सामाजिक संगठनों के कार्यकर्ता देहली गेट पर व्यापारीयों से उलझ गये. जोर-जबरदस्ती बंद कराने और व्यापारियों के विरोध के बाद मामला इतना बढ़ गया कि पुलिस को बंद समर्थकों पर लाठीचार्ज करना पड़ा.

पुलिस लाठीचार्ज के चलते बंद समर्थकों में भगदड़ मच गई. बंद समर्थक अपने वाहनों को छोड़कर भाग खडे़ हुए. अचानक हुए इस घटनाक्रम से राहगीर भी सकते में आ गए और लोगों को छुपकर खुद का बचाव करना पड़ा.

यही नहीं ये बंद समर्थक एकजुट होकर जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचें. यहां रास्ता बंद करने को लेकर एक बार पुलिस नें लाठीचार्ज कर बंद समर्थकों को खदेड़ा. दरअसल सीएए और एनआरसी के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा और अन्य संगठन बंद करा रहे हैं.

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बंद का मिलाजुला असर दिख रहा है. भोपाल में पुराने शहर में जगह-जगह भारत बंद के पोस्टर लगे हैं. कई जगह पर मार्केट बंद है. हालांकि नए शहर में इस बंद का उतना असर नहीं है. भारत बंद का समर्थन करने वाले लोगों का कहना है कि यह बंद मुसलमानों का नहीं बल्कि सभी का है. पीएम मोदी को यह देखना चाहिए कि हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई सब इस भारत बंद का समर्थन कर रहे हैं. इस कानून को वापस लिया जाना चाहिए.

बंद का असर अब मुंबई में भी देखने को मिल रहा है. मुंबई के कुर्ला इलाके की सभी दुकानें बंद है. दुकानों के बाहर नोटिस लगाया गया है कि आखिर ये बंद क्यों रखा गया है. कई संगठनों ने इस बंद का समर्थन किया है. इलाके में पुलिस की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. सड़कों पर लोगों की आवाजाही सामान्य दिख रही है.

मुंबई में सुबह करीब 8:00 बजे कांजुरमार्ग स्टेशन पर CAA और NRC के विरोध में प्रदर्शन किया गया. इस दौरान लोगों ने पटरियों पर उतर कर ट्रेन को करीब 15 मिनट तक रोके रखा. लोगों के पास एनआरसी से जुड़े छोटे-छोटे बैनरों के साथ भारत बंद का बैनर भी था.

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भारत बंद का कोई खास असर नहीं दिख रहा है. हालांकि घंटाघर पर महिलाएं अभी भी धरने पर बैठी हैं. इसी इलाके की कुछेक दुकाने बंद हैं. बाकी जनजीवन सामान्य दिख रहा है.

भारत बंद का बिहार में कहीं भी व्यापक असर नहीं दिखा है. राजधानी पटना में डाकबंगला चौराहे के अलावा पूरा शहर सामान्य है. सिर्फ डाकबंगला चौराहे पर बंद समर्थकों के साथ जीतनराम मांझी और उपेंद्र कुशवाहा मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें –

CAA पर केरल विधानसभा में हंगामा, राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान के खिलाफ नारेबाजी

गिरफ्तारी के बाद चुप पड़ गया शरजील इमाम, सिर्फ ढाई घंटे सोया, पढ़ें पुलिस कस्‍टडी में कैसी गुजरी रात