निर्भया गैंगरेप आरोपी को पोस्टर ब्वॉय बनाने वाले अधिकारी सस्पेंड, DCW नोटिस के बाद EC की कार्रवाई

पंजाब चुनाव आयोग ने निर्भया गैंगरेप के एक मुख्य आरोपी की तस्वीर अपने बैनर में बतौर एक आदर्श मतदाता के तौर पर लगाई हुई थी, जिसपर संज्ञान लेते हुए दिल्ली महिला आयोग ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया था.

नई दिल्ली: दिल्ली महिला आयोग के नोटिस के बाद चुनाव आयोग ने उस अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है, जिसने पंजाब में निर्भया गैंगरेप के एक मुख्य आरोपी की तस्वीर चुनाव आयोग के पोस्टर पर लगवा दी थी. इसके अलावा उस प्रिंट वाले के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कराई गई है, जिसने बैनर तैयार किया गया था.

पंजाब चुनाव आयोग ने निर्भया गैंगरेप के एक मुख्य आरोपी की तस्वीर अपने बैनर में बतौर एक आदर्श मतदाता के तौर पर लगाई हुई थी, जिसपर संज्ञान लेते हुए 22 जुलाई, 2019 को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने चुनाव आयोग को नोटिस जारी किया था. आयोग ने यह नोटिस पीड़िता की मां आशा देवी की शिकायत के बाद जारी किया था.

आशा देवी ने आयोग से अपनी शिकायत में बताया था कि सोशल मीडिया पर यह तस्वीर खूब वायरल हो रही है. स्वाति मालिवाल ने इस मामले पर चुनाव आयोग को नोटिस जारी करते हुए कड़ी कार्रवाई करने को कहा था और साथ ही उन्हें यह सुनिश्चित करने को कहा था कि भविष्य में इस प्रकार की गलती न दोहराई जाए.

चुनाव आयोग ने दिल्ली महिला आयोग को नोटिस का जवाब देते हुए बताया कि मामले में तीन लोगों की गलती सामने आई है, जिसमें होशियारपुर का चुनाव तहसीलदार, अकाउंटेंट जिसने पोस्टर को फाइनल किया था, प्रिंटिग प्रेस का मालिक शामिल हैं. चुनाव आयोग द्वारा कार्रवाई करते हुए चुनाव तहसीलदार को 23 जुलाई, 2019 को सस्पेंड कर दिया गया था. इसके अलावा अकाउंटेंट के खिलाफ भी विभागीय कार्रवाई की गई और 24 जुलाई को प्रिंटिंग प्रेस के मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई.

वहीं इस मामले पर स्वाति मालिवाल का कहना है कि “यह बहुत ही दुख देने वाला है कि चुनाव आयोग के विज्ञापन में निर्भया गैंगरेप के मुख्य आरोपी को बतौर आदर्श मतदाता के रूप में पेश किया गया. आशा देवी ने मुझसे मुलाकात की थी और इसपर चिंता जताई. उन्होंने मुझे बताया था कि मामले को 6 महीने हो गए हैं लेकिन फिर भी दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई. यह पोस्टर जनवरी में सामने आया था. महिला आयोग के नोटिस के बाद चुनाव आयोग ने कार्रवाई की है. साथ ही निर्देश भी दिए गए हैं कि भविष्य में ऐसी कोई गलती न हो.”

ये भी पढ़ें-    सिरफिरे ने रेल की पटरी पर रखा गैस सिलेंडर, सामने से आ रही थी ट्रेन, फिर क्या हुआ…

यूपी: मुस्लिम महिलाओं ने PM नरेंद्र मोदी को भेजी राखी, खफा हो गए मौलाना