एक तरफ बढ़े कोरोना के मामले तो दूसरी तरफ हुई ऑक्सीजन की कमी, 50 सिलेंडर मांगने पर मिल रहे सिर्फ 5

भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 77,472 है. मृत्युदर के मामलों में भारत तीसरे नंबर पर है. वहीं कोरोना संक्रमण के फैलने की दर भारत में दुनिया भर से ज्यादा है. लगातार मामले बढ़ने से ऑक्सीजन सिलेंडर की डिमांड बढ़ी है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 12:06 am, Sun, 13 September 20

कोरोनावायरस (CoronaVirus) के कारण भारत के कुछ हिस्सों में ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी आई है. शनिवार को लगातार दूसरे दिन 97,570 नए मामले सामने आए. जिसके बाद पूरे देश में संक्रमितों की संख्या 4,659,984 हो गई है. भारत कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में इस वक्त दूसरे नंबर पर है. अमेरिका इस वक्त 64 लाख मामलों के साथ नंबर एक पर है.

भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 77,472 है. मृत्युदर के मामलों में भारत तीसरे नंबर पर है. वहीं कोरोना संक्रमण के फैलने की दर भारत में दुनिया भर से ज्यादा है. महाराष्ट्र के पश्चिमी इलाके को कोरोना ने सबसे ज्यादा चोट पहुंचाई है. इससे महाराष्ट्र का आंकड़ा 10 लाख पार कर गया है. अगर महाराष्ट्र एक देश होता तो वह इस वक्त कोरोना के मामले में पूरी दुनिया में चौथे नंबर पर होता.

पढ़ें- नौसेना के पूर्व अधिकारी की मांग- सीएम उद्धव मांगे माफी, नहीं संभल रही कानून व्यवस्था तो दें इस्तीफा

कोरोना के मामले बढ़ने के कारण देश के कई इलाकों में ऑक्सीजन सिलेंडर की भारी कमी हो गई है. नवी मुंबई के निरामाया हॉस्पिटल के मेडिकल डायरेक्टर ने कहा कि ”ऑक्सीजन की भारी कमी है. ऐसा इसलिए क्योंकि ऑक्सीजन सिलेंडर भरने वाले सेंटरों को भी ऑक्सीजन नहीं मिल रहा है. सप्लाई बहुत थोड़ी हो पा रही है. अगर हम 50 सिलेंडर की मांग करते हैं तो हमें सिर्फ 5 से 7 सिलेंडर ही मिल पा रहे हैं.”

बढ़े मामलों के कारण बढ़ी ऑक्सीजन की डिमांड

नवी मुंबई नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि कुछ दिनों से कोरोना के मामले बढ़ने के बाद ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ गई है. सरकारी अधिकारियों और विशेषज्ञों के मुताबिक महाराष्ट्र और देश के अन्य हिस्सों में मामलों में अप्रत्याशित वृद्धि बढ़ने की वजह आर्थिक गतिविधि का फिर से शुरू होना और स्थानीय त्योहारों और लॉकडाउन में कमी है.

पढ़ें- सोनिया और राहुल गांधी संसद के मानसून सत्र के पहले चरण में नहीं होंगे शामिल

यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन की प्रोफेसर भ्रमर मुखर्जी ने ट्वीट करते हुए कहा कि ”मैं भारत में कोरोना की स्थिति को देख कर काफी निराश हूं. हर हफ्ते लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं. लेकिन ऐसा लग रहा है जैसे देश के ज्यादातर लोग इसे नजरअंदाज कर रहे हैं.”