Exclusive: पुलवामा हमले की बरसी पर बोले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह- दुश्मनों से बदला जारी है और रहेगा…

रक्षा मंत्री ने कहा कि देश के जवानों की शहादत पर जो बयानबाजी होती है मैं देश के लोगों से ये कहना चाहता हूं कि भारत का इतिहास मोहब्बत और प्यार की स्याहियों से लिखा गया है. उसे नफरत की स्याही से लिखने की कोशिश नहीं करना चाहिए.
Rajnath Singh on Pulwama Attack, Exclusive: पुलवामा हमले की बरसी पर बोले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह- दुश्मनों से बदला जारी है और रहेगा…

नई दिल्ली: ‘हमारे सेना के जवान और पैरामिलिट्री फोर्सेस आज भी दुश्मनों से बदला ले रही हैं. लेकिन जिंदगी-जिंदगी होती है. हमारे जवानों ने जो शहादत दी है उसके कारण जो उनके परिवारों और देश को क्षति पहुंची है, उसको पूरा नहीं किया जा सकता’…पुलवामा हमले की बरसी पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने टीवी9 भारतवर्ष से एक्सक्लूसिव बातचीत की.

राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारे जवानों ने जो शहादत दी है उसके कारण जो उनके परिवारों और देश को क्षति पहुंची है, उसको पूरा नहीं किया जा सकता लेकिन जिन लोगों ने ऐसी हरकत की है हमारी फोर्सेस उनको मुंह तोड़ जवाब दे रही हैं. आप देखिएगा हमारे लोगों ने सख्त कार्रवाई की है और आगे भी इस कार्रवाई का सिलसिला चलता रहेगा. जब तक आतंकवाद की पूरी तरह से खात्मा नहीं हो जाता तब तक ये कार्रवाई चलती रहेगी.

रक्षा मंत्री ने कहा कि देश के जवानों की शहादत पर जो बयानबाजी होती है मैं देश के लोगों से ये कहना चाहता हूं कि भारत का इतिहास मोहब्बत और प्यार की स्याहियों से लिखा गया है. उसे नफरत की स्याही से लिखने की कोशिश नहीं करना चाहिए. भारत का इतिहास पहले भी नफरत की स्याही से नहीं लिखा गया है बल्कि प्यार और मोहब्बत की स्याही से लिखा गया है और भारत के भविष्य का इतिहास भी प्यार और मोहब्बत की स्याही से लिखा जाना चाहिए, नफरत की स्याही से नहीं.

राजनाथ सिंह ने कहा कि इस वक्त शहीदों के परिवारों की लिए कोई भी घोषणा करना उचित नहीं है. मैं सोचता हूं कि सार्वजनिक रूप से इसकी कोई घोषणा नहीं की जानी चाहिए. क्योंकि चाहे हम जो भी कर दें, जितना भी कर दें ये देश के लिए शहादत देने वाले जवानों से कम ही रहेगा.

अमेरिका के साथ रक्षा सौदे के सवाल पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि एक स्वाभिमानी राष्ट्र के नाते हमें जो भी कदम उठाने चाहिए वो हम करते हैं. हम दुनिया के मुल्कों के साथ अपने रिश्ते भी बनाए रखना चाहते हैं लेकिन एक स्वाभिमानी राष्ट्र के नाते हमें जो करना चाहिए हम वो ही करते हैं. हम किसी के दबाव में नहीं आते और न ही हम किसी के ऊपर दवाब डालते हैं.

राजनाथ सिंह ने भविष्य के प्लान के बारे में बताते हुए कहा कि हम सेना के आधुनिकीकरण पर काम कर रहे हैं ये हमारा एक लक्ष्य है. साथ ही साथ मेक इन इंडिया. हथियार हमारे भारत में ही बनें. हमें इंपोर्ट करने की जरूरत न रहे. बल्कि भारत एक्सपोर्ट करने वाला देश बने.

पाकिस्तान की ओर से रोज उकसावे वाली हरकतों पर राजनाथ सिंह ने कहा कि इन सब के बारे में बोला नहीं जाता. समय के साथ सबकुछ सही हो जाएगा. ये खत्म होकर रहेगा.

 

Related Posts