EXCLUSIVE: हादसे के बाद रात के अंधेरे में खाली कराई जा रही हैं अनाज मंडी की अवैध फैक्ट्रियां

सूत्रों के मुताबिक फैक्ट्री मालिकों को 2 दिन के भीतर फैक्ट्रियां खाली करने के आदेश दिए गए हैं, इसके बाद इन सभी फैक्ट्रीयों को सील किया जाएगा.

रविवार सुबह दिल्ली के फिल्मस्तान की अनाज मंडी में लगी के आग के बाद वहां की सभी अवैद फैक्ट्रियां अब खाली कराई जा रही हैं. Tv9 भारतवर्ष की टीम ने अपनी पड़ताल में पाया कि अनाज मंडी के अवैध फैक्ट्रियों को रात के अंधेरे में गुपचुप तरीके से खाली कराया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक फैक्ट्री मालिकों को 2 दिन के भीतर फैक्ट्रियां खाली करने के आदेश दिए गए हैं, इसके बाद इन सभी फैक्ट्रीयों को सील किया जाएगा.

दरअसल सोमवार देर रात जब Tv9 की टीम दिल्ली की रानी झांसी रोड़ स्थित अनाज मंडी पहुंची तो देखा कि वहां खड़े ट्रकों में सामान लोड किया जा रहा था. इसके बाद जैसे ही कैमरा चालू हुआ तो वहां मौजूद दिल्ली पुलिस के जवानों ने समान ले जा रहे मजदरों से सामान गली के बाहर लाने से मना कर दिया.

दिल्ली पुलिस के जवानों से जब पूछा गया तो वे कैमरे पर कुछ बोलने से कतराने लगे, और कैमरे से बचते हुए इधर-उधर होने लगे.

जिस तरह रात के अंधेरे में चोरी छिपे फैक्ट्रयों को खाली कराया जा रहा है, इससे एक बात तो साफ है कि प्रशासन और दिल्ली पुलिस की मिलीभगत से फैक्ट्री मालिक अपने सामान को शिफ्ट कर रहे हैं. अगर इन फैक्ट्रियों के खिलाफ कार्रवाई करनी थी, तो दिल्ली पुलिस, एमसीडी या दिल्ली सरकार ने हादसे के दो दिन बाद तक भी कोई कार्रवाई क्यों नहीं की?

वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक फैक्ट्री मालिकों को दो दिन का समय दिया गया है. क्योंकि दो दिन बाद इन फैक्ट्रियों पर छापेमारी शुरु हो जाएगी. मगर सवाल जस का तस बना है कि अगर कोई कार्रवाई करनी ही है तो तत्काल क्यों नहीं की जा रही है? साथ ही पुलिस और प्रशासन इन फैक्ट्री मालिकों पर इतना मेहरबान क्यों है?

ये भी पढ़ें : 

दिल्ली अग्निकांड: मरते वक्त दोस्त को किया आखिरी कॉल, कहा, ‘मेरे परिवार का ख्याल रखना’

CRPF कैंप में चली गोलियां, दो जवानों की मौत, 2 घायल

Related Posts