केजरीवाल सरकार ने झुग्गी-झोपड़ियों को तोड़े जाने का किया विरोध, राघव चड्ढा ने फाड़े नोटिस

AAP के विधायक राघव चड्ढा (Raghav Chadha) ने कहा, "मैं ये नोटिस फाड़ता हूं और हर झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले को कहता हूं कि आपका बड़ा बेटा अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) अभी जिंदा है, आपका घर नहीं उजड़ने देंगे."

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) झुग्गी-झोपड़ियों को तोड़े जाने का विरोध कर रही है. गुरुवार को आम आदमी पार्टी (AAP) ने दो टूक शब्दों में कहा कि दिल्ली में झुग्गी-झोपड़ी नहीं तोड़ने दी जाएगी. इससे पहले दिल्ली NCR में रेलवे की जमीन पर बनी करीब 48 हजार झुग्गियों को तोड़ने का आदेश दिया गया था. गुरुवार को आम आदमी पार्टी के विधायक राघव चड्ढा (Raghav Chadha) ने इन झुग्गियों को तोड़े जाने के लिए जारी किए गए नोटिस फाड़ दिए और ऐलान किया कि दिल्ली सरकार और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल झुग्गी-झोपड़ी वालों के साथ है.

आम आदमी पार्टी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल झुग्गी-झोपड़ी (Slum) में रहने वाले लोगों के लिए बड़े बेटे की तरह हैं और इस मुश्किल वक्त में केजरीवाल अपने परिवार के साथ खड़े हैं.

‘किसी का घर नहीं टूटने दिया जाएगा’

राघव चड्ढा ने कहा, “BJP की केंद्र सरकार लोगों की झुग्गियों पर नोटिस लगा रही है जिसमें लिखा है कि 11 सितंबर को आपका घर तोड़ दिया जाएगा. इसके अलावा कई स्थानों पर 17 सितंबर और कई स्थानों पर 24 सितंबर को झुग्गियों को तोड़ने के नोटिस लगाए गए हैं. हम दिल्ली के सभी लोगों को आश्वस्त करना चाहते हैं कि दिल्ली में जब तक अरविंद केजरीवाल की सरकार है तब तक किसी का घर नहीं टूटने दिया जाएगा.”

राघव चड्ढा ने फाड़े नोटिस

राघव चड्ढा ने तुगलकाबाद (Tughlakabad) समेत कई इलाकों में जारी किए गए नोटिसों को फाड़ दिया. उन्होंने कहा, “मैं ये नोटिस फाड़ता हूं और हर झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले को कहता हूं कि आपका बड़ा बेटा अरविंद केजरीवाल अभी जिंदा है, आपका घर नहीं उजड़ने देंगे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अदालत से लेकर सड़क तक झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले लोगों के हित की रक्षा के लिए खड़े रहेंगे. जो कुछ भी करना पड़े, आपका घर नहीं उजड़ने देंगे.”

कार्रवाई को बताया मानवता के खिलाफ

राघव चड्ढा ने इस कार्रवाई को मानवता और संवैधानिक अधिकारों (Constitutional Rights) के खिलाफ बताया. उन्होंने कहा, “बिना कोई आश्रय दिए किसी भी व्यक्ति को उसकी जगह से नहीं हटाया जा सकता. मैं चेतावनी देता हूं कि केंद्र सरकार कार्रवाई करके दिखाए. झुग्गी बस्ती में रहने वाले लोग हमारे परिवार का हिस्सा हैं और हम अपने परिवार को नहीं उजड़ने देंगे. जिन लोगों को भी ऐसे नोटिस आए हैं, उन्हें इस नोटिस से परेशान होने की जरूरत नहीं है. इस कार्रवाई के खिलाफ हम कानूनी लड़ाई भी लड़ेंगे.” (IANS)

Related Posts