Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली
Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली

व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हनुमान चालीसा गाकर सुनाई. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा अभी तो ओवैसी भी हनुमान चालीसा गाएंगे. AAP के संजय सिंह ने कहा 'एक-एक भाजपाई को हनुमान चालीसा पढ़ना पड़ेगा.'
Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली

दुनिया चले न श्री राम के बिना
राम जी चले न हनुमान के बिना

आप क्रोनोलॉजी समझिए, दुनिया श्री राम के भरोसे चलती है और राम जी हनुमान जी के भरोसे चलते हैं. यानी हनुमान जी इनडायरेक्टली दुनिया को चला रहे हैं. इसी दुनिया में दिल्ली नाम का शहर है जहां विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. कहने को वहां पार्टियां और प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं लेकिन एनर्जी तो हनुमान जी से ही मिल रही है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक चैनल के प्रोग्राम में हनुमान चालीसा गाकर सुनाई. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा अभी तो ओवैसी भी हनुमान चालीसा गाएंगे. AAP के संजय सिंह ने कहा ‘एक-एक भाजपाई को हनुमान चालीसा पढ़ना पड़ेगा. अरविंद केजरीवाल के हनुमान चालीसा पढ़ने से इनके पेट में दर्द हो रहा है. ‘

इन सभी नेताओं के बयान में हनुमान चालीसा कॉमन है. यानी त्रेतायुग से अभी तक हनुमान जी के प्रताप में जरा सा भी कमी नहीं आई है. प्रॉब्लम ये है कि चुनाव नजदीक हैं और प्रचार करने वालों के पास इतना टाइम नहीं है कि पूरी हनुमान चालीसा सुना सकें. यहां हनुमान चालीसा का वह हिस्सा बता रहे हैं जिसे सुनाने से जनता में संदेश भी जाएगा कि आप हनुमान भक्त हैं, खुद हनुमान जी तक भी आपकी प्रार्थना पहुंच जाएगी.

भूत पिसाच निकट नहिं आवै।
महाबीर जब नाम सुनावै।।
नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।
संकट ते हनुमान छुड़ावै।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।
सब पर राम तपस्वी राजा।
तिन के काज सकल तुम साजा।
और मनोरथ जो कोई लावै।
सोइ अमित जीवन फल पावै।।

देखा आपने? बस ये चौपाइयां गाकर कोई भी हनुमान भक्त अपने विरोधी को हरा सकता है. अब प्रॉब्लम यह है कि ये आइडिया हमने सभी पार्टियों को दे दिया है. जाहिर सी बात है कि सभी नेता अभी के अभी इन्हें गाना शुरू कर देंगे. यहां तक बताना हमारा काम था, आगे कौन असली भक्त है और कौन नकली, इसका पता स्वयं हनुमान जी लगा लेंगे.

नोट- ये लेखक के निजी विचार हैं.

ये भी पढ़ेंः

व्यंग्य: आंध्र प्रदेश में होंगी तीन राजधानी, UPSC की परीक्षा देने वाले हो जाएंगे कनफ्यूज

व्यंग्य: वित्तमंत्री से रिजर्व बैंक गवर्नर तक, कैलासा में बड़े पदों पर बैठेंगे ये लोग

Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली
Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली

Related Posts

Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली
Hanuman Chalisa in Delhi Assembly election, व्यंग्यः समय की बचत के लिए हनुमान चालीसा का यह अंश पढ़ें सभी नेता, जीत लें दिल्ली