Delhi Assembly Election : AAP को इसबार 63 सीटें मिलने के आसार, जानें सभी सीटों का समीकरण

एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार, 'आप' को 52.2 फीसदी वोट मिल सकता है जबकि वोटों में भाजपा की हिस्सेदारी 38.7 फीसदी रहने का अनुमान है.
delhi assembly election, Delhi Assembly Election : AAP को इसबार 63 सीटें मिलने के आसार, जानें सभी सीटों का समीकरण

दिल्ली की सत्ता में काबिज आम आदमी पार्टी (आप) को इस विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय राजधानी के सभी सात लोकसभा क्षेत्रों में बड़ी जीत मिलने के आसार हैं. आईएएनएस-सीवोट एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार, दिल्ली की सभी 70 विधानसभा सीटों में से ‘आप’ के खाते में 49 से 63 सीटें जा सकती हैं. सभी 70 विधानसभा क्षेत्रों में करवाए गए सर्वे में शामिल 11,839 लोगों से पूछा गया कि उन्होंने किस पार्टी को मतदान किया.

सर्वे के नतीजों के अनुसार, ‘आप’ को चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र में सात से नौ विधानसभा सीटों पर जीत मिल सकती है जबकि भारतीय जनता पार्टी को एक से तीन सीटें मिलने की उम्मीद है, वहीं कांग्रेस के खाते में एक सीट जा सकती है.

पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ को छह से आठ विधानसभा सीटों पर जीत मिल सकती है, जबकि भाजपा को एक से तीन सीटें मिल सकती हैं वहीं कांग्रेस को एक सीट मिलने की उम्मीद है.

नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ को सात से नौ विधानसभा सीटों पर जीत मिलने की उम्मीद है जबकि भाजपा के खाते में एक से तीन सीटें जा सकती हैं और कांग्रेस को यहां कोई सीट नहीं मिलने की उम्मीद है. इस लोकसभा क्षेत्र में नई दिल्ली विधानसभा से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद चुनाव मैदान में हैं.

वहीं, उत्तरपूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ का परचम सात से नौ विधानसभा सीटों पर लहराने की संभावना है जबकि भाजपा को एक से तीन सीटें मिल सकती हैं. इस लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत किसी विधानसभा सीट पर कांग्रेस को जीत मिलने की उम्मीद नहीं है.

उत्तर-पश्चिमी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ को आठ से 10 विधानसभा सीटों पर जीत मिल सकती है जबकि भाजपा के खाते में दो सीटें जा सकती हैं और कांग्रेस का खाता यहां खुलने की उम्मीद नहीं है.

वहीं, दक्षिणी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में ‘आप’ को सात से नौ विधानसभा सीटों पर जीत मिल सकती है, जबकि भाजपा को एक से तीन सीटें मिल सकती हैं और कांग्रेस को एक सीट पर जीत मिल सकती है.

एग्जिट पोल के नतीजों के अनुसार, ‘आप’ को 52.2 फीसदी वोट मिल सकता है जबकि वोटों में भाजपा की हिस्सेदारी 38.7 फीसदी रहने का अनुमान है. वहीं, कांग्रेस को 6.3 फीसदी जबकि अन्य को 2.5 फीसदी वोट मिल सकता है.

Related Posts