दिल्ली बजट: दसवीं में आए 80% मार्क्स तो मिलेगा टैबलेट

दिल्ली सरकार के बजट में राज्य की गरीब जतना का काफी ध्यान रखा गया है. बजट में कच्ची बस्तियों में बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने और गरीबों के लिए मोहल्ला क्लिनिक का विस्तार करने जैसी कई कदम शामिल किए गए हैं.

नई दिल्ली: दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने मंगलवार को वित्त वर्ष 2019-20 के लिए बजट पेश किया. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की ओर से विधानसभा में अनुमानित 60 हजार करोड़ रुपए का बजट पेश किया गया. यह ‘आप’ के कार्यकाल का आखिरी बजट है. साथ ही यह लोकसभा चुनाव से ठीक पहले पेश हुआ है. ऐसे में विपक्षी पार्टियां इसे चुनावी बजट भी बता रही हैं. बजट में शिक्षा, स्वास्थ्य और परिवहन पर खास जोर दिया गया है.

कच्ची कालोनियों के विकास पर इतने करोड़
दिल्ली सरकार के बजट में राज्य की गरीब जतना का काफी ध्यान रखा गया है. बजट में कच्ची बस्तियों में बुनियादी सुविधाएं बढ़ाने और गरीबों के लिए मोहल्ला क्लिनिक का विस्तार करने जैसी कई कदम शामिल किए गए हैं. कच्ची कालोनियों के विकास के लिए 1,600 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रस्ताव है.

बजट का 26 फीसदी शिक्षा के लिए
‘आप सरकार’ ने बजट का 26 फीसदी हिस्सा शिक्षा पर खर्च करने का प्रस्ताव रखा है. साथ ही स्वास्थ्य के लिए बजट का 12.4 फीसदी हिस्सा रखा गया है. इसके अलावा, आप सरकार ने सस्ती बिजली और बीस हजार लीटर तक मुफ्त पानी मुहैया कराने की योजना जारी रखने का फैसला किया है. सरकार ने बारिश के पानी का संरक्षण करने की भी योजना बनाई है.

स्टूडेंट्स को टैबलेट देने घोषणा
आप सरकार ने बजट में विद्यार्थियों के लिए खास घोषणा की है. सरकार का कहना है कि दसवीं में 80 फीसदी तक अंक लाने वाले स्टूडेंट्स को टैबलेट दिया जाएगा. बजट में कोई नया कर लगाने की बात नहीं कही गई है. आप सरकार ने इससे मध्यम वर्ग के मतदाताओं को साधने की कोशिश की है.

‘पुलवामा हमले में शहीद जवानों को समर्पित’
मनीष सिसोदिया ने बजट प्रस्तावों को सदन में रखने से पहले कहा कि यह बजट पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को समर्पित है. वित्त वर्ष 2018-19 के लिए सरकार ने 53 हजार करोड़ रुपये की बजट पेश किया था. पिछले साल की तुलना में इसमें करीब 13.21 फीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है.

सीएम केजरीवाल ने कहा ये…
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस बजट की काफी तारीफ की है. उन्होंने कहा, “गरीब-अमीर, हिंदू-मुस्लिम-सिख-ईसाई, बनिया-पंडित, एससी एसीटी ओबीसी, किसान, मजदूर, महिला, बच्चों और बुजुर्गों सबको इसका फायदा होगा.”

प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी की प्रतिक्रिया
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आप सरकार के इस बजट को निराशाजनक और दिशाहीन बताया है. उन्होंने कहा, “धरातल पर एक भी नई योजना, नए प्रोजेक्ट की घोषणा बजट में नहीं की गई है.”