Delhi Elections 2020: आखिरी दिन नामांकन भरने पहुंचे केजरीवाल, अभी तक नहीं आया नंबर

केजरीवाल तीसरी बार नई द‍िल्‍ली सीट पर जीतना चाहेंगे. वे इससे पहले 2013 में 53.46 प्रतिशत और 2015 में 64.34 प्रतिशत मत हासिल कर जीत हासिल कर चुके हैं.

आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल मंगलवार को नई दिल्ली सीट से नामांकन दाखिल करने पहुंचे. जामनगर हाउस में उनके साथ पत्नी सुनीता केजरीवाल भी साथ मौजूद हैं. पिता जीआर केजरीवाल, माता गीता देवी और बेटी हर्षिता भी केजरीवाल के साथ ही मौजूद हैं.

मंगलवार को नामांकन का आखिरी दिन है. केजरीवाल तीसरी बार इस सीट पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं. वे इससे पहले 2013 में 53.46 प्रतिशत और 2015 में 64.34 प्रतिशत वोट पाकर इस सीट से जीत दर्ज कर चुके हैं.

नामांकन के लिए निकलने से पहले, केजरीवाल ने ट्वीट किया, “एक तरफ – भाजपा, जेडी(यू), एलजेपी, जेजेपी, कांग्रेस, आरजेडी हैं..दूसरी तरफ – स्कूल, अस्पताल, पानी, बिजली, फ्री महिला यात्रा, दिल्ली की जनता. मेरा मकसद है-भ्रष्टाचार हराना और दिल्ली को आगे ले जाना, उनका सबका मकसद है-मुझे हराना.”

केजरीवाल सोमवार को अपना नामांकन दाखिल करने वाले थे, लेकिन अपने ही रोड शो में फंसने के कारण उप जिलाधिकारी के कार्यालय पहुंचने में उन्‍हें देरी हो गई, जिसके बाद उन्होंने नामांकन भरने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया था.

कांग्रेस के सीनियर लीडर भी करेंगे नामांकन

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकेश शर्मा और दिल्ली कांग्रेस प्रमुख सुभाष चोपड़ा की बेटी शिवानी चोपड़ा मंगलवार को अपना नामांकन करेंगे. पार्टी नेताओं ने यह जानकारी दी. पूर्व विधायक शर्मा विकास पुरी क्षेत्र में आशीर्वाद यात्रा निकालने के बाद इस सीट के लिए नामांकन दाखिल करेंगे. वहीं कालकाजी विधानसभा सीट से लड़ रहीं शिवानी भी नामांकन के अंतिम दिन मंगलवार को अपना नामांकन दाखिल करेंगी. इस सीट पर पहले उनके पिता विधायक रह चुके हैं.

शिवानी कालकाजी में अपने चुनाव कार्यालय का भी उद्घाटन करेंगी और उसके बाद गोविंदपुरी, नेहरू कॉलोनी, राजीव गांधी ट्रांजिट कॉलोनी, अमृत पुरी और ईस्ट ऑफ कैलाश आदि क्षेत्रों में जन संवाद आयोजित करेंगी. वर्ष 1998 से 2013 तक 15 साल दिल्ली पर शासन करने वाली कांग्रेस को इस चुनाव में वापसी करने की उम्मीद है.

पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को 70 सीटों में से एक भी सीट नहीं मिली थी वहीं आम आदमी पार्टी (आप) को 67 और भाजपा को सिर्फ तीन सीटें मिली थीं. दिल्ली में चुनाव आठ फरवरी को होंगे और मतगणना 11 फरवरी को होगी.

ये भी पढ़ें

AAP ने काटा दागी जितेंद्र सिंह तोमर का टिकट, पत्‍नी को दिया

दिल्ली चुनाव : बीजेपी के सुनील यादव देंगे केजरीवाल को चुनौती, सौरभ भारद्वाज ने उड़ाया मजाक