दिल्ली में दंगा पीड़ितों को मुआवजे के तौर पर बांटे गए 21 करोड़ रुपए

दिल्ली सरकार (Delhi government) ने आवासीय इमारत के पूरी तरह से क्षतिग्रस्त होने पर पांच लाख रुपए, थोड़े नुकसान की स्थिति में 2.5 लाख रुपए और बीमा ना होने की स्थिति में वाणिज्यिक इकाईयों (Commercial Units) के लिए 5 लाख रुपए देने की घोषणा की थी.

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में भड़की हिंसा (Delhi violence) में 53 लोगों की मौत हो गई थी और संपत्तियों का भारी नुकसान हुआ था, जिसके बाद दिल्ली सरकार (Delhi government) ने दंगा पीड़ितों के 1,661 क्लेम (दावों) का निपटारा किया है और मुआवजे के तौर पर 21 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि इन लोगों में बांटी है.

दंगा मामले में दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की ओर से दाखिल आरोपपत्र (चार्जशीट) के अनुसार, सरकार ने दंगा पीड़ितों को अब तक 21,93,29,050 रुपए बांटे हैं. करीब 1,661 पीड़ितों के मामलों को निपटाया गया है, जबकि 185 मामले अभी भी लंबित हैं.

दंगा पीड़ितों को दिया गया मुआवजा

सीलमपुर के उप जिला मजिस्ट्रेट ने 7,69,81,637 रुपए के क्लेम का निपटारा किया है, तो वहीं यमुना विहार, करावल नगर, शाहदरा के उप जिला मजिस्ट्रेट ने क्रमश: 5,95,16,284 रुपए, 6,49,539 रुपए और 1,78,63,590 रुपए दंगा पीड़ितों में बांट दिए हैं.

ये भी पढ़ें : दिल्ली दंगा: रुश्दी, मीरा नायर समेत 200 शख्सियतों ने की उमर खालिद की रिहाई की मांग

दंगों को देखते हुए, सरकार ने मौत की स्थिति में 10 लाख रुपए, स्थायी अपंगता (Permanent Disability) के लिए 5 लाख रुपए, गंभीर रूप से घायलों को दो-दो लाख रुपए, हल्की चोट के लिए 20,000 रुपए और पशुहानि के लिए 5,000 रुपए देने की घोषणा की थी.

इन आधारों पर किया गया था मामला दर्ज

इसके अलावा दिल्ली सरकार ने आवासीय इमारत के पूरी तरह से क्षतिग्रस्त होने पर पांच लाख रुपए, थोड़े नुकसान की स्थिति में 2.5 लाख रुपए और बीमा ना होने की स्थिति में वाणिज्यिक इकाईयों (Commercial Units) के लिए 5 लाख रुपए देने की घोषणा की थी.

यह जानकारी दिल्ली पुलिस की चार्जशीट से दी गई है. दिल्ली पुलिस ने 15 लोगों के खिलाफ UAPA, भारतीय दंड संहिता (IPC), आर्म्स एक्ट (Arms Act) और सार्वजनिक संपत्ति क्षति रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था.

ये भी पढ़ें : दिल्ली दंगा: सलमान खुर्शीद-कविता कृष्णन समेत इन तक पहुंची जांच की आंच, लगे गंभीर आरोप

Related Posts