मनी लांड्रिंग केस में DK शिवकुमार को मिली जमानत, कोर्ट लॉबी में फूट-फूटकर रोए उनके भाई

हाईकोर्ट ने जमानत याचिका पर फैसला सुनाते हुए कहा कि डीके शिवकुमार के देश छोड़कर भागने का कोई खतरा नहीं है.

दिल्ली हाईकोर्ट ने कर्नाटक कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को मनी लांड्रिंग के मामले में जमानत दे दी है. कोर्ट ने जमानत याचिका पर फैसला सुनाते हुए कहा कि डीके शिवकुमार के देश छोड़कर भागने का कोई खतरा नहीं है, और ना ही सबूतों को नष्ट करना का खतरा है.

25 लाख के निजी मुचलके पर जमानत 
कोर्ट ने डीके शिवकुमार को 25 लाख के निजी मुचलके और इतनी ही राशि के दो सिक्योरिटी जमा कराने के लिए कहा है. डीके शिवकुमार बिना अनुमति के देश से बाहर नहीं जा सकते. साथ ही जब भी जांच एजेंसी पूछताछ के लिए बुलाए, उन्हें आना होगा.

डीके शिवकुमार को जमानत मिलते ही उनके भाई डीके सुरेश कोर्ट लॉबी में ही फूट-फूटकर रोने लगे. सुरेश के साथ पार्टी के कुछ और भी कार्यकर्ता थे.


सोनिया गांधी ने की शिवकुमार से मुलाकात
बता दें कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बुधवार सुबह तिहाड़ जेल जाकर डीके शिवकुमार से मुलाकात की थी. कर्नाटक में डीके शिवकुमार को पार्टी का संकटमोचक कहा जाता है. शिवकुमार हवाला के जरिए लेनदेन और टैक्स चोरी के एक मामले में जेल में हैं. उन्हें प्रवर्तन निदेशालय ने 3 सितंबर को गिरफ्तार किया था.

मालूम हो कि डीके शिवकुमार को ही कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली उस सरकार को बनाने का श्रेय जाता है, जो इसी साल जुलाई में गिर गई थी. बीते साल सितंबर में ईडी ने डीके शिवकुमार, हनुमंथैया, कर्नाटक भवन के एक कर्मचारी और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

ये भी पढ़ें-

सुरक्षा बलों ने तोड़ी आतंकियों की कमर, जाकिर मूसा के वारिस हामिद ललहारी को किया ढेर

कमलेश तिवारी की पत्नी ने कहा- एक बार आरोपियों का चेहरा दिखा दो, अपने हाथों से उन्हें मारना चाहती हूं

दिल्ली के कनॉट प्लेस में एनकाउंटर, 2 बदमाशों को लगी गोली, 3 गिरफ्तार