दिल्‍ली: टीचर ने बीवी और 3 बच्‍चों को चाकुओं से गोद डाला, पुलिस के सामने कबूला जुर्म

शुरुआती जांच में घरेलू कलह की बात सामने आ रही है.

नई दिल्‍ली: दिल्‍ली के महरौली में एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है. यहां एक शख्‍स ने अपनी पत्‍नी और तीन बच्‍चों की चाकू से गोदकर हत्‍या कर दी. शख्‍स ने अपना जुर्म कबूल लिया है. हालांकि उसने कोई वजह नहीं बताई है, मगर शुरुआती जांच में घरेलू कलह की बात सामने आ रही है.

आरोपी उपेंद्र शुक्‍ला को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है. मिली जानकारी के अनुसार, उपेंद्र ने रात एक से डेढ़ बजे के बीच सभी कत्‍ल किए. मृतकों में 2 महीने, 5 साल और 6 साल के बच्‍चे शामिल हैं.

इस भयानक हत्याकांड की जानकारी तब मिली, जब उसी घर में रहने वाली आरोपी की सास ने कमरे का दरवाजा खटखटाया. कई प्रयासों के बाद भी जब उसने दरवाजा नहीं खोला तो महिला ने पड़ोसियों की मदद ली. पड़ोसी ने दरवाजा खोला तो उसके होश उड़ गए.

उसने देखा कि उपेंद्र जमीन पर बैठा हुआ है. कमरे में उसकी पत्नी और 3 बच्चों की लाश पड़ी है, पत्नी की लाश जमीन पर पड़ी थी और बच्चों की लाश बेड पर. इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. पुलिस मौका-ए-वारदात पर पहुंची और छानबीन में जुट गई.

पुलिस के मुताबिक, उपेंद्र अपनी पत्नी अर्चना और 3 बच्चों के साथ इस घर में रहता था. बच्चों में सबसे बड़ी बेटी रान्या की उम्र 7 साल थी. बेटा रौनक महज 5 साल का था. तीसरा बच्चा तो बस 2 महीने का ही था. पडोसियों की माने तो परिवार बहुत ही शांति से यहां रहता था और उपेंद्र काफी मिलनसार व्यक्ति था. ऐसे में पड़ोसियों को उम्मीद बिल्कुल भी नहीं थी वो एक दिन वो अपने पूरे परिवार को खत्म कर देगा.

सबसे पहले पुलिस ने उपेंद्र को हिरासत में लिया और उससे पूछताछ की गई, उपेंद्र की मानें तो बहुत डिप्रेशन में इस वजह से उसने इस वारदात को अंजाम दिया है. उसने बताया कि कि वह पत्नी की बीमारी से भी दुखी था. पुलिस को उसके पास से दो नोट भी मिले हैं. एक हिंदी में और एक इंग्लिश में. उसने लिखा है कि सभी की हत्या उसी ने की है और इस हत्याकांड का जिम्‍मेदार वो ही है.

मृतक अर्चना और उसका आरोपी पति उपेंद्र.दक्षिणी दिल्‍ली के डीसीपी ने कहा, “उपेंद्र शुक्‍ला महरौली में अपने परिवार संग रहता था. प्राइवेट ट्यूशन देता था. उसने अपनी पत्‍नी और 3 बच्‍चों की गला रेतकर हत्‍या कर दी. बताया जा रहा है कि वह अवसादग्रस्त था, लेकिन मेडिकल रिपोर्ट से स्थिति साफ हो जाएगी. हत्‍या में इस्‍तेमाल हुआ चाकू बरामद कर लिया गया है. उसने एक नोट में अपराध स्‍वीकार कर लिया है.

उपेंद्र पेशे से केमिस्ट्री के टीचर हैं, जो आसपास के बच्चों को पढ़ाते थे. परिवार मूल रूप से बिहार के चम्पारण का रहने वाला है. वारदात की जानकारी परिवार के बाकी लोगों को दे दी गई है. अभी तक इस पूरे हत्याकांड के पीछे उपेंद्र के डिप्रेशन को मुख्य वजह बताया जा रहा है लेकिन किसी और वजह से इंकार करना अभी जल्दबाजी होगी.

ये भी पढ़ें

तीन दिन में 3 मासूमों ने जान दे दी, हमारे बच्‍चों को ये क्‍या हो गया

VIDEO: ट्रेन में सीट को लेकर बवाल, बिहार में शख्‍स की चाकुओं से गोद कर हत्‍या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *