दिल्ली में 4 नवंबर से ऑड-ईवन लागू, नियम तोड़ने पर चार हजार का जुर्माना, इन्हें मिलेगी छूट

यह नियम दिल्ली में आने वाली बाहर की गाड़ियों पर भी लागू होगा. यह नियम रविवार को लागू नहीं होगा.

दिल्ली में 4 नवंबर से 15 नवंबर तक ऑड-ईवन स्कीम एक बार फिर से लागू होने जा रही है. इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी. उन्होंने बताया ऑड-ईवन स्कीम दिल्ली में सुबह 8 बजे से लेकर शाम 8 बजे तक लागू रहेगी.

यह नियम दिल्ली में आने वाली बाहर की गाड़ियों पर भी लागू होगा. यह नियम रविवार को लागू नहीं होगा. मतलब हफ्ते के बाकी 6 दिन (सोमवार से शनिवार) तक यह नियम लागू रहेगा. नियम तोड़ने पर चार हजार रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा.

इन्हें मिली छूट-

  • जिस गाड़ी में सिर्फ महिलाएं होंगी उन्हें ऑड-ईवन नियम से छूट मिलेगी.
  • जिस गाड़ी में महिलाओं के अलावा 12 साल से कम उम्र के बच्चे होंगे उन्हें भी ऑड-ईवन से फ्री रखा जाएगा.
  • टू व्हीलर्स पर भी ये लागू नहीं होगा.
  • स्कूल बच्चों को ले जाने वाली गाड़ियों को छूट मिली है.
  • इमरजेंसी वाहनों को छूट मिली है.
  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट और वीवीआईपी गाड़ियों को भी ऑड-ईवन से छूट मिलेगी.
  • सीएनजी वाहनों को कोई छूट नहीं मिलेगी. पिछली बार सीएनजी व्हीकल स्टीकर्स का ऑड-ईवन के दौरान काफी दुरुपयोग हुआ था जिसके चलते दिल्ली सरकार ने ये फैसला लिया.
  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट और वीवीआईपी गाड़ियों को छूट.
  • केंद्र सरकार के सभी मंत्री, राज्यों के मुख्यमंत्री, चीफ जस्टिस, संवैधानिक पदों पर आसीन अधिकारियों को इससे छूट मिलेगी. हालांकि दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं सभी मंत्री इसके दायरे में आएंगे.

सीएनजी गाड़ी वालों के लिए मुसीबत बढ़ी
आपको बता दें कि इस बार सीएनजी वाहनों को ऑड-ईवन से कोई छूट नहीं मिलेगी. पिछली बार सीएनजी व्हीकल स्टीकर्स का ऑड-ईवन के दौरान काफी दुरुपयोग हुआ था, जिसके चलते दिल्ली सरकार ने ये फैसला लिया.

महिलाओं को विशेष छूट
हर बार की तरह इस बार भी महिलाओं को विशेष छूट दी गई है. कोई भी ऐसी कार जिसमें सभी महिलाएं हैं या महिला कार चला रही है या महिला अकेले 12 साल तक के बच्चे के साथ सफर कर रही है ऐसे में उनपर ऑड-ईवन के नियम लागू नहीं होंगे.

सरकारी दफ्तरों की टाइमिंग भी बदलेगी
ऑड-ईवन को सफल बनाने के लिए दिल्ली सरकार सरकारी दफ्तरों का समय भी बदल सकती है. इसके लिए दिल्ली सरकार विशेषज्ञों की मदद ले रही है और रिपोर्ट आने के बाद यह तय होगा कि सरकारी दफ्तर कितने से कितने बजे तक खुलेंगे.

ये भी पढ़ें-

पापा को फिर चुनाव जिताने ली 5 महीने की छुट्टी, मैदान में अरविंद केजरीवाल की बेटी

Railway Recruitment 2019: 10वीं पास के लिए नौकरियां, जानें सेलेक्‍शन का तरीका