गिरफ्तार ISIS आतंकियों के बारे में सनसनीखेज खुलासा- हिंदू नेता की हत्‍या करके भाग गए नेपाल

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल इन आतंकवादियों के पीछे काफी दिन से लगी हुई थी. इनकी बातचीत को भी दिल्ली पुलिस की टीमों द्वारा सुना जा रहा था.

दिल्ली पुलिस ने गुरुवार सुबह मुठभेड़ के बाद जिन तीन आईएसआईएस प्रभावित आतकवादियों को दबोचा, वे कई साल से एक हिंदूवादी नेता ही हत्या के बाद से फरार थे. हत्या की उस वारदात को इन आतंकवादियों ने साल 2014 में अंजाम दिया था. पुलिस विदेश में बैठे इनके हैंडलर की तलाश कर रही है.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के एक अधिकारी के मुताबिक, गिरफ्तार आतंकवादियों के नाम अब्दुल नवाज, मुइनुद्दीन उर्फ मोइद्दीन व एक अन्य है. 2014 में इन आतंकवादियों ने अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर एक हिंदूवादी नेता की हत्या कर दी थी, तभी से ये सब फरार थे. इनकी तलाश तमिलनाडु पुलिस को भी थी.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के अधिकारियों के मुताबिक, इन 6 आतंकवादियों में से 3 हिंदूवादी नेता की हत्या के बाद नेपाल भाग गए थे. जो भारत में बचे, उन्हें ही दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीम ने मुठभेड़ के बाद गुरुवार को सुबह के वक्त उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के वजीराबाद इलाके से दबोच लिया.

पुलिस के मुताबिक, जांच में पता चला है कि तीनो एक फॉरेन हैंडलर के संपर्क में थे और उसी के कहने पर दिल्ली आए थे. गुरुवार सुबह ये तीनों वजीराबाद इलाके में अपने एक लिंक से मिलने जा रहे थे.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल इन आतंकवादियों के पीछे काफी दिन से लगी हुई थी. इनकी बातचीत को भी दिल्ली पुलिस की टीमों द्वारा सुना जा रहा था. बातचीत सुनने के दौरान ही दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल को पता चला कि इन्हें सलाह देने वाला इनका हैंडलर विदेश में बैठा है.

पुलिस हैंडलर को पकड़ने का अगर इंतजार करती तो इन तीनों को भी पकड़ पाना मुश्किल हो जाता. लिहाजा, जो आतंकवादी हाथ आए दिल्ली पुलिस ने उन्हीं तीनों को पहले दबोच लिया.

ख्वाजा पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में होते हुए दिल्ली पहुंचा था. यहां पर उसने एक कमरा किराए पर लिया. लेकिन इस दौरान पुलिस को इसकी मूवमेंट की जानकारी मिल गई थी.

पुलिस को ये खबर मिल चुकी थी कि तीनों को हथियार भी आईएस के आका ने दिलवा दिया था. इनके निशाने पर दिल्ली और एनसीआर के अलावा पूरा उत्तर भारत था. तीनों ने बताया कि एक बार किसी बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने के बाद ये पाकिस्तान चले जाते.

पांच-छह घंटे की पूछताछ में दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की टीमों को पता चला है कि आने वाले निकट भविष्य में इन आतकंवादियों की योजना उत्तर प्रदेश के भीड़भाड़ वाले किसी स्थान को निशाना बनाने की थी.

यह आतंकवादी दिल्ली किस मकसद से पहुंचे? यह भी कुछ ही देर में इनसे उगलवा लिए जाने की उम्मीद है. स्पेशल सेल के अधिकारियों ने आईएएनएस के साथ हुई बातचीत में यह बात भी मानी है.

उल्लेखनीय है कि 25 नवंबर, 2019 को भी दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने असम में तीन आतंकवादियों को दबोचा था. उनके पास से विस्फोट के लिए तैयार आईईडी, 1 किलोग्राम विस्फोटक और विशेष किस्म के दो चाकू जब्त किए थे. वे तीनों इस वक्त तिहाड़ जेल में बंद हैं.

ये भी पढ़ें-

PDP के 8 नेताओं ने की विदेशी राजनयिकों से मुलाकात, महबूबा ने दिखाया बाहर का रास्ता

कमलनाथ का PM मोदी पर हमला, बोले- कभी किसान और युवाओं की बात क्‍यों नहीं करते?

महिला कांस्टेबल ने लगाया शोषण का आरोप, रोते हुए कहा- विभाग से उठ गया भरोसा