दिल्ली: पिंजरा तोड़ ग्रुप की मेंबर नताशा गिरफ्तार, UAPA एक्ट के तहत स्पेशल सेल ने की कार्रवाई

पिंजरा तोड़ (Pinjra Tod) की मेंबर नताशा नरवाल (Natasha Narwal) पर जफराबाद में दंगों की साजिश को रचने का आरोप है. दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने नताशा को गिरफ्तार किया है.
pinjra tod activists arrest, दिल्ली: पिंजरा तोड़ ग्रुप की मेंबर नताशा गिरफ्तार, UAPA एक्ट के तहत स्पेशल सेल ने की कार्रवाई

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने जफराबाद में हुए दंगो के मामले में पिंजरा तोड़ (Pinjra Tod) की मेंबर नताशा को गिरफ्तार किया है. यह गिरफ्तारी UAPA एक्ट (गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम) के तहत की गई है. स्पेशल सेल नताशा से पूछताछ कर रही है.

बता दें कि नताशा पर जफराबाद में दंगों की साजिश को रचने का आरोप है. वहीं पिंजरा तोड़ की एक और मेंबर देवांगना को दिल्ली के दरियांगज में CAA प्रोटेस्ट के दौरान हुई हिंसा के मामले में क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार को गिरफ्तार किया है.

सूत्रों के मुताबिक नताशा और देवांगना समेत पिंजरा तोड़ के कई मेंबर का दंगो में एक्टिव रोल और CAA प्रोटेस्ट के दौरान लोगों बड़ा रोल रहा है. शुक्रवार को ही दोनों को गिरफ्तार किया गया है.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

क्या है पिंजरा तोड़?

पिंजरा तोड़ दिल्ली के अलग-अलग कॉलेजों की छात्राओं का एक ग्रुप है. इस ग्रुप से केवल अभी पढ़ रही छात्राएं ही नहीं जुड़ी हैं बल्कि जो पास आउट हो चुकी हैं वो भी इसमें बढ़-चढ़कर अपना रोल निभाती हैं.

इस ग्रुप से कई छात्र भी जुड़े हुए हैं. यह ग्रुप पिछले पांच साल से कैंपस और हॉस्टल्स के नियमों को लेकर अभियान चला रहा है और बेबाकी से अपनी राय रखता है. ग्रुप ने अभियान को पिंजरा तोड़ो अभियान (Pinjra Todo Campaign) नाम दिया.

इसलिए चर्चा में आया पिंजरा तोड़ ग्रुप

पिंजरा तोड़ संगठन की दो छात्राओं दवांगना (Devangana) और नताशा (Natasha)पर आरोप है कि ये दोनों दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Act) को लेकर फरवरी में हुई हिंसा में शामिल रही हैं.

Related Posts