शाहरुख को स्पॉट पर लेकर पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम, गोली के खाली खोखे बरामद करने की कोशिश

घटनास्थल पर शाहरुख (Shahrukh) की निशानदेही पर उसे पिलर नंबर 208 के पास लाया गया, जहां पर शाहरुख ने सड़क पर और सड़क के दूसरी तरफ फायर किया था. TV9 भारतवर्ष की एक टीम इस स्पॉट पर पहुंची और शाहरुख से बात करने की कोशिश की.
Delhi Violence Crime Branch team reached Shahrukh on spot, शाहरुख को स्पॉट पर लेकर पहुंची क्राइम ब्रांच की टीम, गोली के खाली खोखे बरामद करने की कोशिश

दिल्ली हिंसा (Delhi Violence) के दौरान फायरिंग करने वाले शाहरुख (Shahrukh) को क्राइम ब्रांच (Crime Branch) की टीम रविवार को वारदात वाली जगह लेकर पहुंची है. जाफराबाद से मौजपुर (Jafrabad-Maujpur Road) जाने वाली रोड पर ही शाहरुख ने हिंसा को दौरान फायरिंग (Delhi Violence Firing) की थी और दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के कांस्टेबल दीपक दहिया (Deepak Dhaiya) पर पिस्टल (Pistol) तानी थी. इस दौरान क्राइम ब्रांच के साथ फोरेंसिक एक्सपर्ट की एक टीम (FSL Team) भी मौजूद थी.

इस दौरान फोरेंसिक टीम (FSL) ने स्पॉट से मिट्टी से शाहरुख (Shahrukh) की तरफ से फायर की गोलियों के खाली खोखे बरामद करने की भी कोशिश की, लेकिन फिलहाल कोई खोखा बरामद नहींं हुआ है.

घटनास्थल पर शाहरुख (Shahrukh) की निशानदेही पर उसे पिलर नंबर 208 के पास लाया गया, जहां पर शाहरुख ने सड़क पर और सड़क के दूसरी तरफ फायर किया था. TV9 भारतवर्ष की एक टीम इस स्पॉट पर पहुंची और शाहरुख से आमने-सामने बात करने की कोशिश की. इस दौरान माइक पर शाहरुख से कई सवाल पूछे, लेकिन वो बेचैन सा दिखा.

गाड़ी में शाहरुख से हुई बातचीत में निकली जानकारी

  • शाहरुख शामली (Shamli) में अपने परिवार के करीबी और पिता के साथ जेल में रह चुके कलीम के घर रहा था. कलीम को एक और केस में यूपी पुलिस (UP Police) ने गिरफ्तार किया है.
  • शाहरुख ने बताया कि करीब 10 हजार रुपये में उसने कुछ महीने पहले एक जानकर से पिस्टल (Pistol) खरीदी थी. हालांकि इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच (Crime Branch) को है. शाहरुख ने यह पिस्टल मुंगेर (Munger) से खरीदी थी. अब क्राइम ब्रांच अगले दिनों में इस शख्स तक पहुंचने की कोशिश में है.
  • छेनू गैंग (Chenu Gang) से जुड़े शख्स, जिसका नाम अफसर है, वो शाहरुख का दोस्त है. हालांकि शाहरुख का किसी गैंग (Gang) से जुड़े होने का कोई बैकग्राउंड नही निकला है. वहीं लोकल पुलिस को शाहरुख के पास पिस्टल होने का शक पहले से ही था, क्योंकि कई शादियों में हर्ष फायरिंग के मामले सामने आए थे लेकिन इसके अलावा शाहरुख किसी आपराधिक गतिविधि (Criminal Activity) में शामिल नहीं पाया गया.
  • शाहरुख ने पुलिस को बताया कि वो शाम को गर्लफ्रेंड से मिलने जाने वाला था, लेकिन माहौल को देखते हुए पिस्टल रखकर जाफराबाद के प्रोटेस्ट (Jafrabad Protest) में घुस गया और गुस्से में गोली चला दी. क्राइम ब्रांच का कहना है कि अचानक से गोली चला देना, इससे लगता है इसकी मानसिक स्थिति क्रिमिनल जैसी है. हालांकि गोली चलाते वक्त इसने किसी को टारगेट नहीं किया.
  • पूछताछ में शाहरुख ने बताया कि वो पुलिस अफसर बनना चाहता था, लेकिन हालात ऐसे नहीं थे. इसका शौक टिक टॉक (TikTok) पर फॉलोअर्स बढ़ाकर सोशल मीडिया (Social Media) का स्टार बनना था. इसलिए ये लगातार टिक टॉक वीडियो बनाता था.
  • क्राइम ब्रांच ने शाहरुख के दोनों फोन की कॉल डिटेल निकाली है. इसमें ऐसा कोई संदिग्ध या किसी गैंग का नंबर नहीं मिला, जिससे यह हो सके कि हिंसा भड़काने के लिए यह किसी गैंग के संपर्क में था.
  • शाहरुख 23-24 साल का लड़का है इसके पिता ड्रग्स तस्करी में जेल जा चुका हैं और इसके भाई का जुराबों का बिजनेस है. हाल के दिनों शाहरुख टिक टॉक और गर्लफ्रैंड के साथ घूमने फिरने में समय बिता रहा था.

Related Posts