दिल्ली हिंसा: पुलिस ने ताहिर हुसैन और सफूरा जरगर पर लगाया UAPA

ये धाराएं सोमवार को जोड़ी गई हैं. मालूम हो कि UAPA गैर जमानती है. साथ ही इसमें आरोप सिद्ध होने पर पांच साल कैद या फिर उम्रकैद तक की सजा का प्रावधान है.
Delhi violence, दिल्ली हिंसा: पुलिस ने ताहिर हुसैन और सफूरा जरगर पर लगाया UAPA

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में दो आरोपियों ताहिर हुसैन और सफूरा जरगर पर गैर कानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA), 1967 लगा दिया है. आम आदमी पार्टी (AAP) निलंबित निगम पार्षद ताहिर हुसैन और सफूरा जरगर फिलहाल न्यायिक हिरासत में जेल में बंद हैं.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बुधवार को इसकी पुष्टि की. ताहिर हुसैन और सफूरा जरगर को काफी पहले दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था. दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले में हुई खूनी हिंसा के बाद क्राइम ब्रांच ने 6 मार्च को आपराधिक मामला दर्ज किया था.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

FIR में साफ-साफ लिखा था कि उस हिंसा के पीछे (24 और 25 फरवरी, 2020) JNU छात्र उमर खालिद और उसके कुछ साथियों की भूमिका संदिग्ध लग रही है. FIR में उमर खालिद के कई विवादित और भड़काऊ भाषणों का भी जिक्र किया गया था. FIR के मुताबिक, उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले में हिंसा की भूमिका तब बनाई गई थी, जब अमेरिकी राष्ट्रपति भारत के दौरे पर थे.

क्राइम ब्रांच द्वारा दर्ज FIR के मुताबिक, हिंसा के लिए भीड़ को इकट्ठा करने की जिम्मेदारी दानिश नामक शख्स को दी गई थी. क्राइम ब्रांच ने मामला दर्ज करने के बाद आगे की जांच दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के हवाले कर दी थी. दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के एक उच्च पदस्थ सूत्र ने पहचान उजागर न करने की शर्त पर कहा, सफूरा और ताहिर हुसैन पर UAPA की धाराएं भी लगा दी गई हैं.

ये धाराएं सोमवार को जोड़ी गई हैं. मालूम हो कि UAPA गैर जमानती है. साथ ही इसमें आरोप सिद्ध होने पर पांच साल कैद या फिर उम्रकैद तक की सजा का प्रावधान है.

Related Posts