Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान
Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान

Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान

मौजपुर, बाबरपुर, जाफराबाद, कबीर नगर, बृजपुरी, भजनपुरा और करावल नगर में रहने वाले सैकड़ों लोगों के साथ इस तरह की घटनाएं पेश आई हैं.
Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान

मौजपुर के विजय पार्क इलाके में उपद्रवी भीड़ के बीच से 2 छात्रों ने गिड़गिड़ा कर अपनी जान की सलामती मांगी. फिर भी दोनों छात्रों को छोड़ने से पहले दंगाइयों ने उन्हें बुरी तरह लाठी-डंडों से पीटा. छात्रों को बचाने के लिए कई स्थानीय लोग आगे आए, तब उनकी जान बचाई जा सकी. विजय पार्क के छात्रों ने इलाके का माहौल बयां किया.

एक पीड़ित छात्र ने बताया, “बुधवार दोपहर करीब 2:30 बजे मैं बगल वाली गली से ट्यूशन पढ़कर अपने घर लौट रहा था. हम दोनों डर से बाहर मेन रोड पर नहीं गए, अंदर की गलियों से ही अपने घर जा रहे थे. उसी दौरान 10-15 लोगों की भीड़ ने हमें घेर लिया.” दूसरे छात्र ने कहा, “हाथ में लाठी-डंडे लिए इन लोगों ने बिना नाम-पता पूछे बेवजह हमें थप्पड़ मारना शुरू कर दिया. हमने अपनी सलामती के लिए दंगाइयों के हाथ-पैर जोड़े. इस बीच अच्छी बात यह रही कि हमें पहचानने वाले कुछ स्थानीय लोग मौके पर पहुंच गए और हम दोनों को भीड़ से छुड़ाया और हमें घर तक सुरक्षित पहुंचा आए.”

वहीं, मौजपुर की तीन नंबर गली में रहने वाले एक नौकरी पेशा 47 वर्षीय व्यक्ति ने कहा, “मंगलवार रात को घर पहुंचना बहुत मुश्किल था. रास्ते में जगह-जगह अलग-अलग किस्म के लोगों ने गुट बनाकर सड़कों, गलियों को घेरा हुआ था. क्रिकेट खेलने में इस्तेमाल होने वाला हेलमेट पहने हुए और मुंह पर रुमाल बांधे हुए चार-पांच लड़कों ने मुझे घेर लिया. मैंने उनसे दोनों हाथ जोड़कर जाने देने के लिए कहा.”

नौकरी से लौट रहे इस शख्स के मुताबिक, हेलमेट पहने इन लोगों ने उसके साथ हिंसा नहीं की, लेकिन उसे आगे न जाने की हिदायत दी और धमकी देकर लौटा दिया. इसके बाद यह शख्स लौटकर अपने रिश्तेदारों के घर दिलशाद गार्डन पहुंचा और पूरी रात वहां गुजारने के बाद बुधवार को दोपहर में अपने घर लौट सका.

मौजपुर, बाबरपुर, जाफराबाद, कबीर नगर, बृजपुरी, भजनपुरा और करावल नगर में रहने वाले सैकड़ों लोगों के साथ इस तरह की घटनाएं पेश आई हैं. दरअसल, इन सभी सड़क मार्गो पर मंगलवार को यातायात पूरी तरह प्रतिबंधित रखा गया. इसके अलावा दिल्ली मेट्रो ने मंगलवार को 5 मेट्रो स्टेशन जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकलपुरी, जौहरी एन्क्लेव और शिव विहार बंद रखे थे. हालांकि, बुधवार सुबह सभी स्टेशन खोल दिए गए. हिंसा प्रभावित इलाकों में अर्धसैनिक बलों की 35 कंपनियां तैनात की गई हैं. ब्रह्मपुरी इलाके में पथराव के बाद RAF के जवानों ने फ्लैग मार्च किया.

ये भी पढ़ें – आधुनिक दिल्ली लाशों की नींव के ऊपर नहीं बन सकती : अरविंद केजरीवाल

Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान
Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान

Related Posts

Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान
Delhi Violence, Delhi Violence : भीड़ में घिरे 2 छात्रों की कहानी, गिड़गिड़ा कर बचाई जान