Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव
Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव

Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव

एसएन श्रीवास्तव लंबे समय से CRPF में तैनात थे. दिल्ली में बढ़ती हिंसा को देखते हुए अचानक मंगलवार को उनके मूल कैडर में उन्हें वापस बुला लिया गया. श्रीवास्तव अग्मूटी कैडर के 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.
Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव

केंद्रीय सुरक्षा बल (CRPF) के विशेष निदेशक (ट्रेनिंग) सच्चिदानंद श्रीवास्तव (एस.एन. श्रीवास्तव) को अचानक मंगलवार को उनके मूल कैडर में वापस बुला लिया गया. श्रीवास्तव अग्मूटी कैडर के 1985 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं.

एसएन श्रीवास्तव लंबे समय से CRPF में तैनात थे. यह शायद जाफराबाद की तबाही की ही तासीर का असर है, जिसके चलते, श्रीवास्तव को अचानक मंगलवार को जैसे ही उनके मूल कैडर में वापस बुलाने के आदेश गृह मंत्रालय ने जारी किए, उसके कुछ देर बाद ही राष्ट्रीय राजधानी के गृह विभाग ने उन्हें दिल्ली पुलिस में विशेष आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) बना दिया.

दिल्ली पुलिस में अब तक छह रेंज के अलग-अलग स्पेशल कमिश्नर (L&O) हैं. एसएन श्रीवास्तव को दिल्ली पुलिस में विशेष पुलिस आयुक्त बनाया गया है. इससे साफ होता है कि तमाम 6 रेंज के विशेष पुलिस आयुक्त (लॉ एंड आर्डर) श्रीवास्तव को रिपोर्ट कर सकते हैं.

दिल्ली के नए कमिश्नर हो सकते हैं IPS श्रीवास्तव

हालांकि चर्चाओं का बाजार यह भी गरम है कि एसएन श्रीवास्तव को एक सोची समझी और दूर की रणनीति के तहत आनन-फानन में दिल्ली पुलिस में वापस लाया गया है. मौजूद और कार्यवाहक पुलिस कमिश्नर का अस्थाई कार्यकाल भी 29 फरवरी 2020 को पूरा हो रहा है. ऐसे में सुगबुगाहट यह भी है कि हो सकता है कि शाह की सल्तनत आने वाले वक्त में अमूल्य पटनायक से खाली हुई पुलिस कमिश्नरी श्रीवास्तव के ही हवाले न कर दे. हालांकि इस मुद्दे पर फिलहाल न तो अमूल्य पटनायक कुछ बोलने को राजी हैं. न ही श्रीवास्तव कुछ बोलकर बेवजह के किसी झमेले में फंसना चाहेंगे.

दिल्ली पुलिस के जानकारों के मुताबिक, श्रीवास्तव वरिष्ठता के नजरिये से भी पुलिस कमिश्नर के पद के लिए योग्य हो सकते हैं. साथ ही उनके पास अभी इतना सेवाकाल बचा है कि उन्हें पुलिस कमिश्नर बनाने में केंद्र सरकार को कहीं कोई समस्या नहीं आएगी.

दिल्ली की रग-रग से वाकिफ हैं श्रीवास्तव

दिल्ली पुलिस मुख्यालय के सूत्रों के मुताबिक, “कमिश्नरी किसे मिलेगी यह बाद की बात है. फिलहाल तो एसएन श्रीवास्तव उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले में फैली आग और हिंसा को शांत करने में तुरुप का पत्ता साबित हो सकते हैं. श्रीवास्तव दिल्ली की रग-रग और गली-गली से वाकिफ हैं. जनता से सीधे संवाद की उनकी कला ही उन्हें बाकी आईपीएस की भीड़ से अलग रखती है. संभव है कि एसएन श्रीवास्तव को जल्दबाजी में मंगलवार को इसीलिए वापस उनके मूल कैडर (दिल्ली पुलिस) में भेजा गया हो.”

एसएन श्रीवास्तव ने लंबे समय से दिल्ली में पुलिसिंग को समझा परखा है. वह दिल्ली की जनता की सोच और नब्ज को करीब से जानते-समझते हैं. साथ ही जिस तरह उन्होंने केंद्रीय सुरक्षा बल में तमाम चुनौतियों से भरे कई साल गुजारे, उसका लाभ भी उन्हें बहैसियत विशेष आयुक्त (लॉ एंड आर्डर) दिल्ली पुलिस में मिलना तय है.

–IANS

ये भी पढ़ें:

Delhi Violence: 3 जिलों में हाई अलर्ट, DCP ने बताया- क्यों हिंसा नहीं रोक पा रही दिल्ली पुलिस

Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव
Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव

Related Posts

Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव
Delhi Violence SN Srivastava Delhi Police, Delhi Violence: क्यों CRPF से दिल्ली पुलिस में वापस बुलाए गए IPS एसएन श्रीवास्तव