दिल्ली: मेंटेनेंस के कारण अगले 4-5 दिन पानी की आपूर्ति प्रभावित होगी- जल बोर्ड

दिल्ली जलबोर्ड (Delhi Jal Board) के अधिकारियों के मुताबिक गंगनहर की सप्लाई हर साल बंद होती है. इस दौरान शुरुआत के छह दिन तो पाइपलाइन से बचा हुआ पानी आता है और बाकी का पानी यमुना नदी से लिया जाता था. लेकिन इस साल यमुना का जल स्तर कम है.

  • TV9 Hindi
  • Publish Date - 10:30 pm, Sun, 18 October 20

राजधानी दिल्ली (Delhi) में अगले चार से पांच दिनों के लिए जलापूर्ति (Water Supply) बाधित रहेगी. गंगाजल की सप्लाई बंद होने व यमुना का जल स्तर कम होने के कारण दिल्ली के कई जिलों पर पानी का दबाव कम रहेगा. दरअसल, 15 अक्टूबर से गंगनहर की सफाई के कारण दिल्ली को गंगाजल की सप्लाई नहीं मिल पा रही है. सफाई का काम करीब 15 नवंबर तक चलेगा.

दिल्ली जलबोर्ड (Delhi Jal Board) के अधिकारियों के मुताबिक गंगनहर की सप्लाई हर साल बंद होती है. इस दौरान शुरुआत के छह दिन तो पाइपलाइन से बचा हुआ पानी आता है और बाकी का पानी यमुना नदी से लिया जाता था. लेकिन इस साल यमुना का जल स्तर कम है. इसकी वजह से सोनिया विहार व भागीरथी जल संयंत्रों से कम पानी की सप्लाई हो पा रही है. पानी कम प्रेशर के साथ ही सप्लाई हो पा रहा है.

यह भी पढ़ें- दिल्ली में सुधर रहे हालात, तीन लाख मरीजों ने दी कोरोना को मात

इससे दक्षिणी, पूर्वी, उत्तर पूर्वी व NDMC के कुछ इलाकों में पानी की आपूर्ति बाधित रहेगी. नहर शहर को एक दिन में लगभग 270 मिलियन गैलन पानी की आपूर्ति करती है, जिसमें से लगभग 120 एमजीडी भागीरथी संयंत्र और 150 सोनिया विहार संयंत्र में ट्रीटमेंट के लिए जाती है. वसंत कुंज, सरिता विहार, लोनी रोड, मंडावली, यमुना विहार, ग्रेटर कैलाश, गिरी नगर व इनके आसपास के इलाकों में परेशानी हो सकती है.

टैंकर बुलाने के लिए नंबर जारी

दिल्ली जल बोर्ड की ओर से लोगों को सलाह दी गई है कि वह पानी बर्बाद न करें. पानी को भर कर रखे. पानी के टैंकर के लिए केंद्रीय नियंत्रण कक्ष पर 1916 और 23538495 या स्थानीय जल बोर्ड कार्यालयों में फोन कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- NEET 2020 में चरवाहे के बेटे ने किया टॉप, आगे की पढ़ाई के लिए लोगों से मांगी मदद