90 दिनों बाद खुले दक्षिणेश्वर काली मंदिर के कपाट, थर्मल स्कैनिंग और सैनिटाइजेशन के बाद एंट्री

कुछ श्रद्धालुओं (Devotees) ने कहा कि भगवान के सामने कोरोना (Coronavirus) का कोई डर नहीं है. वहीं, अन्य भक्तों का कहना है कि विज्ञान (Science) और श्रद्धा को एक ही नजर से नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस धर्म या रंग नहीं देखता.
Dakshineswar Kali temple open, 90 दिनों बाद खुले दक्षिणेश्वर काली मंदिर के कपाट, थर्मल स्कैनिंग और सैनिटाइजेशन के बाद एंट्री

पश्चिम बंगाल में स्थित दक्षिणेश्वर काली मंदिर (Dakshineswar Kali Temple) के कपाट 13 जून से श्रद्धालुओं के लिए फिर खोल दिए गए हैं. शनिवार सुबह मंदिर खुलने के साथ ही कोलकाता और उसके आसपास के श्रद्धालु दक्षिणेश्वर काली मंदिर में एकत्रित हो गए हैं. इतने लंबे समय के बाद पूजा करने का अवसर मिलने से सभी लोग बहुत खुश थे. वे सभी सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए मार्क किए गए निशान पर खड़े थे.

देखिये फिक्र आपकी सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 9 बजे

सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर क्या कहा भक्तों ने

मंदिर के पुजारी बैंगनी रंग का सूट पहने थे और भक्तों की ओर से पूजा-अर्चना कर रहे थे. Tv9 bharatvarsh की टीम ने कुछ भक्तों से बात की. कुछ श्रद्धालुओं ने कहा कि भगवान के सामने कोरोना (Coronavirus) का कोई डर नहीं है. वहीं, अन्य भक्तों का कहना है कि विज्ञान और श्रद्धा को एक ही नजर से नहीं देखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस धर्म या रंग नहीं देखता.

कोरोनावायरस गाइडलाइंस का रखा जा रहा ध्यान

कोरोनावायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए इस प्रसिद्ध मंदिर को 90 दिनों से बंद किया गया था. जरूरी गाइडलाइंस के तहत मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का ध्यान रखा जा रहा है. मंदिर में प्रवेश करने से पहले श्रद्धालुओं की थर्मल जांच की जा रही है और उन्हें सैनिटाइज भी किया जा रहा है. लेकिन श्रद्धालुओं को मंदिर के गर्भगृह में जाने की अनुमति नहीं दी गई है.

मां काली ने दिए थे रामकृष्ण परमहंस को दर्शन

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के कोलकाता में स्थित दक्षिणेश्वर काली मंदिर हुगली नदी के तट पर बेलूर मठ के दूसरी तरफ स्थित है. यह मंदिर बंगालियों के आध्‍यात्‍म का मुख्य केंद्र है. स्वामी विवेकानंद के गुरु रामकृष्ण परमहंस (Ramakrishna Paramahamsa) का इस मंदिर से गहरा नाता है. कहा जाता है कि रामकृष्ण परमहंस को दक्षिणेश्वर काली मंदिर में मां काली ने दर्शन दिए थे. मंदिर में उनका पलंग और दूसरे स्मृति चिन्ह सुरक्षित हैं.

इस मंदिर समूह में भगवान शिव के कई मंदिर थे. इनमें से अब केवल 12 मंदिर ही बचे हैं. देश के कोने-कोने से लोग इस मंदिर में मां काली के दर्शन के लिए आते हैं.

देखिये परवाह देश की सोमवार से शुक्रवार टीवी 9 भारतवर्ष पर हर रात 10 बजे

Related Posts